दिल्ली में व्यापार बंद से 1,800 करोड़ की चपत

बीएस संवाददाता | नई दिल्ली Mar 13, 2018 10:18 PM IST

सीलिंग के विरोध में दिल्ली के अहम बाजारों में आज ज्यादातर दुकानें बंद रहीं, जिससे करीब 1,800 करोड़ रुपये का कारोबार प्रभावित हुआ। दिल्ली सरकार सीलिंग पर रोक के लिए विधानसभा में प्रस्ताव पारित कर केंद्र सरकार को मंजूरी के लिए भेजेगी। सीलिंग मसले पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक के बाद उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि बैठक में कांग्रेस प्रतिनिधियों ने सीलिंग के विरोध में संसद में आवाज उठाने और सीलिंग रुकवाने का हरसंभव प्रयास करने का भरोसा दिया। सरकार उनके अच्छे सुझावों पर अमल करेगी। बैठक में भाजपा शामिल नहीं हुई। 

 

सरकार 351 सड़कों का व्यावसायिक उपयोग अधिसूचित करने के लिए अगले सप्ताह उच्चतम न्यायालय से मंजूरी लेने के लिए अपना पक्ष रखेगी। सरकार सभी दलों को साथ लेकर निगरानी समिति से सीलिंग रुकवाने के लिए भी मिलेगी। दिल्ली सरकार के वरिष्ठ मंत्री गोपाल राय ने कहा विधानसभा में सीलिंग पर रोक के लिए प्रस्ताव पारित कर केंद्र सरकार को भेजा जाएगा।

कनफेडेरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के महासचिव प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि सीलिंग के विरोध में व्यापार बंद से दिल्ली में करीब 1,800 करोड़ रुपये का कारोबार प्रभावित हुआ। चैंबर ऑफ ट्रेड ऐंड इंडस्ट्री के संयोजक बृजेश गोयल ने दावा किया कि सीलिंग के विरोध में बाजारों में 8 लाख दुकानें और 28 औद्योगिक क्षेत्रों में 1.5 लाख फैक्टरियां भी बंद रहीं।
कीवर्ड सीलिंग, दिल्ली, बाजार,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक