जीएसटी से 20,000 करोड़ रुपये का लक्ष्य

बीएस संवाददाता | पटना Mar 13, 2018 10:20 PM IST

बिहार सरकार ने अपने वरिष्ठ अधिकारियों को चालू वित्त वर्ष में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) से कम से कम 20,000 करोड़ रुपये राजस्व जुटाने का लक्ष्य थमाया है। लक्ष्य की पूर्ति के लिए राज्य सरकार ने उन्हें बड़े कारोबारियों पर ध्यान केंद्रित करने को कहा है।

 

वाणिज्य कर विभाग के नए भवन के उद्घाटन के मौके पर उप-मुख्यमंत्री सह वित्त मंत्री सुशील कुमार मोदी ने अधिकारियों को चालू वित्त वर्ष के अंत तक जीएसटी से 20,000 करोड़  रु पये जुटाने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि यह लक्ष्य हासिल करने के लिए राज्य के बड़े करदाताओं पर ध्यान केंद्रित किया जाना चाहिए। 

मोदी ने कहा, 'जीएसटी लागू होने से पहले अप्रैल से जून तक 4,413 करोड़ रुपये और जीएसटी लागू होने के बाद जुलाई 2017 से फ रवरी 2018 तक 13,658 करोड़ रुपये राजस्व का संग्रह हुआ। अधिकारी वित्त वर्ष के बचे दिनों में प्रयास तेज कर 20,000 करोड़ रु पये का राजस्व लक्ष्य हासिल कर सकते हैं।' मोदी ने कहा कि इस व्यवस्था के अंतर्गत  2016.17 के दौरान राज्य के 597 बड़े कारोबारी थे, जिनकी वार्षिक कमाई 50 करोड़ से 500 करोड़ रुपये से अधिक थी। उनसे कुल राजस्व का 73 प्रतिशत संग्रह हुआ था। 

इनमें 500 करोड़ रु पये अधिक कारोबार करने वाले 36 कारोबारियों से 47 प्रतिशत, 200 से 500 करोड़ रु पये कारोबार करने वाले 95 डीलरों से 11.57 प्रतिशत, 100 से 200 करोड़ रु पये कारोबार करने वाले 154 कारोबारियों से 6.93 प्रतिशत और 50 से 100 करोड़  रु पये तक कारोबार करने वाले  312 कारोबारियों से 6 प्रतिशत राजस्व की प्राप्ति हुई थी।

उन्होंने देश में 50,000  रुपये से अधिक मूल्य के अंतर राज्य माल परिवहन के लिए ई-वे बिल की व्यवस्था का जिक्रभी किया, जो पहली अप्रैल से बिहार सहित पूरे देश में लागू की जा रही है।
कीवर्ड बिहार, सरकार. जीएसटी, वित्त मंत्री, सुशील कुमार मोदी,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक