गन्ना बकाया भुगतान के लिए 125 करोड़ रु.

बीएस संवाददाता | लखनऊ Mar 13, 2018 10:27 PM IST

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने गन्ना किसानों के बकाया भुगतान के लिए 125 करोड़ रुपये की धनराशि देने का फैसला किया है। प्रदेश सरकार ने सहकारी चीनी मिलों पर गन्ना किसानों के बकाया के भुगतान के लिए अपनी आकस्मिक निधि से 125 करोड़ रुपये स्वीकृत किए हैं। 

 

सरकार की ओर से जारी की गई धनराशि से सहकारी मिलों का बीते पेराई सत्र 2016-17 के बकाया गन्ना मूल्य का शत-प्रतिशत भुगतान किया जाएगा। चीनी एवं गन्ना विकास विभाग के मुताबिक इस धनराशि के जारी होने के बाद संबंधित गन्ना किसानों के बैंक खाते में तीन दिन के अन्दर पैसा स्थानांतरित कर दिया जाएगा।

गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग मंत्री सुरेश राणा के मुताबिक गन्ना मूल्य का भुगतान प्रदेश सरकार की पहली प्राथमिकता है। बीते पेराई सत्र का सहकारी मिलों पर गन्ना किसानों के बकाया भुगतान के लिए उन्होंने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया था। मुख्यमंत्री ने सहकारी मिलों के भुगतान का संकट दूर करने के लिए आकस्मिक निधि से 125 करोड़ रुपये स्वीकृत कर दिए हैं।

प्रदेश के गन्ना एवं चीनी आयुक्त, संजय आर भूसरेड्डी ने बताया कि पेराई सत्र 2016-17 में सहकारी चीनी मिलों द्वारा कुल 2,434.75 करोड़ रुपये का गन्ना खरीदा गया था, जिनमें से चीनी मिलों ने अपने संसाधनों से 2,325.43 करोड़ रुपये का भुगतान कर दिया है, जो कुल देय का 95.51 फीसदी है। 

सहकारी क्षेत्र की कुल 24 चीनी मिलों में से आठ चीनी मिलों ने शत प्रतिशत भुगतान कर दिया है जबकि 16 चीनी मिलों पर 109.32 करोड़ रुपये का गन्ना मूल्य बकाया है। उन्होंने बताया कि गन्ना किसानों के हित में सरकार द्वारा जारी धनराशि से सहकारी चीनी मिलों पर विगत सत्र के बकाये गन्ना मूल्य 109.32 करोड़ रुपये का शत-प्रतिशत भुगतान तुरंत सुनिश्चित हो सकेगा और इससे गन्ना उत्पादक क्षेत्र के लगभग 1.21 लाख किसानों को फायदा मिलेगा।
कीवर्ड उत्तर प्रदेश, योगी आदित्यनाथ. सरकार, गन्ना किसान,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक