अमेरिकी आयात कर का विश्लेषण शुरू

मेघा मनचंदा | नई दिल्ली Mar 13, 2018 10:46 PM IST

भारत की तैयारी

स्टील व एल्युमीनियम के आयात पर अमेरिका द्वारा शुल्क लगाए जाने के प्रभाव के आकलन के लिए बैठक
बैठक में वाणिज्य, स्टील व खनन सचिवों के साथ स्टील व एल्युमीनियम क्षेत्र की कंपनियों  के प्रतिनिधि शामिल रहे
इस सप्ताह के अंत तक तैयार की जा सकती है कार्ययोजना

राष्ट्रीय सुरक्षा और अमेरिका के उद्योगों के संरक्षण का हवाला देकर अमेरिका द्वारा आयातित स्टील और एल्युमीनियम पर भारी कर लगाए जाने के बाद अब भारत सरकार ने इसके असर का विश्लेषण करना शुरू कर दिया है, जिससे स्थिति से निपटने के लिए कार्ययोजना तैयार की जा सके। 

इस सिलसिले में हुई पहली बैठक में वाणिज्य विभाग, स्टील और खनन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने उद्योग जगत के साथ मिलकर अमेरिकी प्रशासन द्वारा लगाए गए शुल्क के असर पर चर्चा की। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी के मुताबिक निर्यात किए जाने वाले सामानों का ब्योरा उद्योग से लिया जा रहा है और स्थिति से निपटने के लिए इस सप्ताह के आखिर तक योजना तैयार कर ली जाएगी। इस बैठक में वाणिज्य सचिव रीता तेवतिया, स्टील सचिव अरुणा शर्मा और खनन सचिव अरुण कुमार शामिल रहे। वेदांता, जेएसडब्ल्यू स्टील, सेल और अन्य कंपनियों के प्रतिनिधियों ने उद्योग जगत की ओर से इस बैठक में हिस्सा लिया। 

पिछले सप्ताह एक आदेश में अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने स्टील के आयात पर 25 प्रतिशत और एल्युमीनियम के आयात पर 10 प्रतिशत शुल्क लगा दिया था। यह कर कनाडा और मैक्सिको को छोड़कर सभी देशों से आयात पर लगाया गया है। अमेरिकी प्रशासन भविष्य में मित्र देशों को कर में छूट दे सकता है। शुल्क आदेश 15 दिन में प्रभावी होगा। 

2016-17 के पहले 8 महीने में भारत ने अमेरिका को 23 करोड़ डॉलर के  लोहे और स्टील का निर्यात किया, जबकि 2016-17 में 33 करोड़ डॉलर का निर्यात किया था। भारत अमेरिका को स्टेनलेस स्टील के बार, रॉड, वायर, एंगल, शेप और सेक्शन का निर्यात करता है। इसके अलावा लोहा और गैर मिश्रित स्टील उत्पाद और कच्चे लोहे के उत्पाद का भी निर्यात करता है। 

भारत का अमेरिका को प्राथमिक एल्युमीनियम निर्यात वित्त वर्ष 17 में 49,000 टन रहा है, जो भारत से होने वाले कुल 23.42 लाख टन प्राथमिक एल्युमीनियम के निर्यात का 2.1 प्रतिशत है। अप्रैल अक्टूबर 2017 के दौरान अमेरिका को होने वाले प्राथमिक एल्युमीनियम के निर्यात में 352 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई और कुल निर्यात 51,000 टन रहा, जबकि मूल्य के आधार पर सालाना हिसाब से 445 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई और 1803 लाख डॉलर का निर्यात हुआ। 

इस बढ़ोतरी से घरेलू उत्पादन में सालाना आधार पर 38 प्रतिशत की तेजी आई और इससे परिचालन कुशलता में सुधार हुआ। चालू वित्त वर्ष में भारत से होने वाला निर्यात (7,85,000 टन) 27 प्रतिशत बढ़ा है जबकि घरेलू खपत (4,80,000 टन) 25 प्रतिशत कम हुई है।
कीवर्ड राष्ट्रीय सुरक्षा, अमेरिका, उद्योग, संरक्षण,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक