दिल्ली सरकार बदलेगी घरेलू उद्योग की परिभाषा

बीएस संवाददाता | नई दिल्ली Mar 15, 2018 09:58 PM IST

कर्मियों की संख्या 5 से बढ़ाकर 11 करने की योजना

5 केवी बिजली कनेक्शन नियम को बढ़ाकर 11 केवी किया जाएगा
दिल्ली के आवासीय क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर चल रहे हैं ऐसे उद्योग

दिल्ली सरकार घरेलू उद्योग (हाउसहोल्ड इंडस्ट्री) की परिभाषा बदलने पर विचार कर रही है। दिल्ली में गांधीनगर, सीलमपुर, लक्ष्मीनगर, विश्वास नगर जैसे आवासीय क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर घरेलू उद्योग चल रहे हैं। अभी 5 कर्मचारी व 5 केवी बिजली कनेक्शन वाले उद्योग इस श्रेणी में आते हैं।

उन्हें आवासीय क्षेत्रों में काम करने की इजाजत है। सरकार घरेलू उद्योग की परिभाषा बदलने के तहत कर्मचारियों की संख्या 5 से बढ़ाकर 11 और बिजली कनेक्शन की क्षमता 5 केवी से बढ़ाकर 11 केवी करेगी। बीते दिनों हुई सर्वदलीय बैठक में दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने भी मुख्यमंत्री को आवासीय क्षेत्रों में प्रदूषण न फैलाने वाले घरेलू उद्योग हित में परिभाषा बदलने का सुझाव दिया था।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज गांधी नगर में सीलिंग का विरोध कर रहे कारोबारियों को संबोधित करते हुए कहा कि कुछ उद्यमियों ने बीते सप्ताह दिल्ली में छोटे उद्योग की परिभाषा बदलने का मुद्दा उठाया था। दिल्ली सरकार ने इस पर काम शुरू कर दिया है और अधिकारियों से चर्चा कर परिभाषा बदलने को कहा गया है। 

मुख्यमंत्री ने सीलिंग के मसले पर कारोबारियों से कहा सीलिंग रुकवाना दिल्ली सरकार के हाथ में नहीं है। फिर भी सरकार कारोबारियों की लड़ाई लड़ रही है। सीलिंग केंद्र सरकार द्वारा अध्यादेश या विधेयक लाने से ही रुक सकती है और केंद्र सरकार को यह काम करना चाहिए। केजरीवाल ने कहा कि केंद्रीय शहरी मंत्री हरदीप पुरी ने उन्हें भरोसा दिया है कि सीलिंग की समस्या का समाधान निकाल लिया गया है। 
कीवर्ड हाउसहोल्ड इंडस्ट्री, परिभाषा, गांधीनगर, सीलमपुर, लक्ष्मीनगर, विश्वास नगर,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक