स्टार्टअप को जमीन और रियायतें देगी बिहार सरकार

बीएस संवाददाता | पटना Mar 16, 2018 10:33 PM IST

बिहार सरकार ने राज्य में सूचना प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरण निर्माण को बढ़ावा देने का फैसला लिया है। इसके लिए राज्य के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने हर प्रकार की नीतिगत सुविधाएं और जमीन देने की घोषणा की। इसके अलावा राज्य सरकार ने स्टार्टअप्स को बढ़ावा देने के लिए भी उन्हें जगह और कई सुविधाएं मुहैया कराने का फैसला लिया है। 

उप मुख्यमंत्री ने आ पटना के बिस्कोमान भवन में बिहार के पहले स्टार्टअप हब का उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्होंने स्टार्टअप को हर प्रकार की सुविधा देने का ऐलान किया। इसके अलावा उन्होंने सूचना प्रौद्योगिकी से जुड़ी सेवाओं और इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरण निर्माण क्षेत्र के निवेशकों को बिहार में आने के लिए आमंत्रित भी किया। मोदी ने कहा, 'राज्य सरकार बिहार में आईटी और स्टार्टअप के विकास के लिए बेहद गंभीर है। 

स्टार्टअप केंद्र युवाओं में उद्यमशीलता को बढ़ावा देने में अहम भूमिका अदा करेगा।' उन्होंने कहा कि इस केंद्र में 31 स्टार्टअप को काम करने की जगह उपलब्ध कराई जाएगी। मोदी ने कहा कि पटना के बीचोंबीच एक नया आईटी केंद्र भी बनाया जा रहा है, जो निजी-सार्वजनिक साझेदारी (पीपीपी) के तहत बनाया जाएगा। उप मुख्यमंत्री के मुताबिक इस स्टार्टअप हब को राज्य सरकार समान सुविधा केंद्र के तौर पर विकसित करेगी। उन्होंने कहा, 'इस केंद्र में स्टार्टअप  की मदद की जाएगी। 

साथ ही युवाओं को स्वास्थ्य, कृषि कौशल विकास आदि के क्षेत्र में संभावनाओं के बारे में भी बताया जाएगा। हमारी कोशिश ज्यादा से ज्यादा युवाओं को आईटी से जोडऩे की है क्योंकि भविष्य आईटी का ही है।' मोदी ने सूचना प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरण निर्माण को बढ़ावा देने का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार आने वाले वक्त में नीतिगत सुधारों और बुनियादी ढांचा सहयोग को भी लागू करेगी। इसके तहत राज्य सरकार ने इस क्षेत्र को अति प्राथमिकता वाला उद्योग घोषित किया है। 
कीवर्ड बिहार, सरकार, राज्य, सूचना, प्रौद्योगिकी, इलेक्ट्रॉनिक्स, उपकरण,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक