तीन साल में सबसे कम बढ़ेगा दिल्ली का जीडीपी

बीएस संवाददाता | नई दिल्ली Mar 19, 2018 09:44 PM IST

दिल्‍ली की आर्थिक समीक्षा

आर्थिक समीक्षा के मुताबिक इस वित्त वर्ष जीएसडीपी 11.22 फीसदी बढ़ने का अनुमान
प्रति व्यक्ति राष्‍ट्रीय औसत से तीन गुना अधिक, सरकार का शिक्षा-स्वास्थ्य, परिवहन, सामाजिक क्षेत्र पर जोर

दिल्ली का सकल राज्य घरेलू उत्पाद (जीएसडीपी) तीन साल में सबसे कम बढ़ने का अनुमान है। दिल्ली के वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया द्वारा विधानसभा में पेश आर्थिक समीक्षा 2017-18 के मुताबिक वर्ष 2017-18 के दौरान दिल्ली का जीएसडीपी 11.22 फीसदी बढऩे की संभावना है। समीक्षा में दिल्ली में शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवहन, जलापूर्ति, सार्वजनिक वितरण प्रणाली, सामाजिक सुरक्षा और कल्याण क्षेत्र में हो रहे उल्लेखनीय कार्यों का विवरण दिया गया है।

समीक्षा के अग्रिम अनुमानों के अनुसार वर्ष 2017-18 के दौरान जीएसडीपी वर्तमान मूल्यों पर 6,68,017 करोड़ रुपये पर पहुंचने का अनुमान है, जो वर्ष 2016-17 के जीएसडीपी से 11.22 फीसदी ज्यादा है। वर्ष 2015-16 के दौरान जीएसडीपी 12.09 फीसदी, वर्ष 2016-17 के दौरान जीएसडीपी 12.76 फीसदी की दर से बढ़ा था। इस तरह चालू वित्त वर्ष में जीएसडीपी वृद्धि दर तीन साल में सबसे कम है। वर्ष 2014-15 में वृद्धि दर 10.96 फीसदी को छोड़ दिया जाए तो इस वित्त वर्ष जीएसडीपी बीते छह साल में सबसे कम है। 

समीक्षा में कहा गया है कि दिल्ली की अर्थव्यवस्था में सेवा क्षेत्र की प्रधानता है। अग्रिम अनुमानों के अनुसार चालू वित्त वर्ष के दौरान वर्तमान मूल्यों पर दिल्ली के सकल राज्य मूल्य वर्धन (जीएसवीए) में तृतीयक क्षेत्र का योगदान 85.92 फीसदी रहा। इसके बाद माध्यमिक क्षेत्र का योगदान 12.04 फीसदी और प्राथमिक क्षेत्र का 2.04 फीसदी रहा। 
कीवर्ड delhi, GST, वस्तु एवं सेवा कर, जीएसटी,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक