राज्यों ने कम खर्च किया बजट

जयजित दास | भुवनेश्वर Apr 02, 2018 09:42 PM IST

राज्यों ने अपने बजट अनुमान से कम धन खर्च किया है। दिल्ली के एक गैर लाभकारी संगठन पीआरएस लेजिस्लेटिव रिसर्च के मुताबिक राज्यों ने 2011-12 से 2015-16 के बीच लगातार अपने लक्ष्य से 7 प्रतिशत कम खर्च किए हैं। वास्तविक खर्च बजट अनुमान से कम रहा है। कम खर्च करने वाले राज्योंं में तेलंगाना और असम प्रमुख हैं, जिन्होंने अपने बजट अनुमान से 27 प्रतिशत और 25 प्रतिशत कम खर्च किए हैं। सामान्यतया राजस्व व्यय पर राज्यों ने 80 प्रतिशत खर्च किया है। शेष 20 प्रतिशत धन वित्त पूंजी व्यय में इस्तेमाल हुआ है। 2011 से 2015 के बीच राज्यों ने अपने राजस्व व्यय से 6 प्रतिशत कम खर्च किया है और पूंजीगत व्यय में 16 प्रतिशत कम खर्च किया है। अध्ययन में राज्यों का क्षेत्र वार वित्तपोषण के तरीके का भी अध्ययन किया गया है। 

 
अध्ययन के मुताबिक ग्रामीण विकास में सबसे ज्यादा 16 प्रतिशत कम खर्च किया गया है और इसके बाद सिंचाई और अनुसूचित जाति, जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग कल्याण कोष का स्थान आता है, जहां प्रत्येक क्षेत्र में बजट अनुमान की तुलना में 13 प्रतिशत कम खर्च किया गया है। अन्य प्रमुख क्षेत्रों जैसे स्वास्थ्य (10 प्रतिशत), शिक्षा (9 प्रतिशत) और कृषि (9 प्रतिशत) में भी कम खर्च रिकॉर्ड किया गया है।  रिपोर्ट से पता चलता है कि ऊर्जा क्षेत्र में बजट अनुमान की तुलना में ज्यादा खर्च किया गया है। राज्यों ने संभवत: बकाया निपटाने पर धन व्यय किया है और उज्ज्वल डिस्कॉम एश्योरेंस योजना (उदय) पर अतिरिक्त खर्च हुआ है। 
कीवर्ड budget, states,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक