बेहतर ऊर्जा संबंध चाहता है मैक्सिको

ज्योति मुकुल | नई दिल्ली Apr 13, 2018 09:56 PM IST

भारत में पेट्रोल की कमी को पूरा करने के लिए मैक्सिको ऊर्जा संबंध बढ़ाने पर विचार कर रहा है। इसके लिए वह भारतीय कंपनियों के साथ मिलकर काम करना चाहता है।  लैटिन अमेरिकी देश सितंबर में अपने पहले शेल गैस की नीलामी करेगा। लेकिन इसके पहले वह जुलाई में समुद्र के किनारे के परंपरागत ब्लॉकों की नीलामी करेगा, जिसमें भारतीय कंपनियों के हिस्सा लेने की संभावना है। मैक्सिको भारत में तेल की आपूर्ति करने वाले 5 प्रमुख देशों में शामिल है।  बिजनेस स्टैंडर्ड के साथ बातचीत में मैक्सिको के हाइड्रोकार्बन उप मंत्री एल्डो फ्लोरेस क्वैरोगा ने कहा, 'पूरी मूल्य शृंखला में भारतीय कंपनियां हिस्सा ले सकती हैं। अपस्ट्रीम, मिडस्ट्रीम और डाउनस्ट्रीम कंपनियों में में हमें निवेश की जरूरत है। मैक्सिको ने इस क्षेत्र को प्रतिस्पर्धी और पारदर्शी प्रक्रिया के तहत खोल दिया है।'
 
मैक्सिको के शेल ब्लॉक्स बुर्गोस बेसिन पर हैं, जो उत्तर पश्चिमी सीमा पर स्थित राज्य तमऊलिपास में है। यहां सरकारी तेल कंपनी पेमेक्स ने 20 कुएं खोदे हैं। मैक्सिकन बेसिन को अमेरिका के ईगल फोर्ड बेसिन का विस्तार माना जाता है, जिसने शेल गैस और तेल उत्पादन में क्रांति ला दी है। फ्लोरेस क्वैरोगा ने कहा कि मैक्सिको प्राकृतिक गैस व पेट्रोलियम का शुद्ध आयातक था। उन्होंने कहा, 'मैक्सिको पेट्रोलियम उत्पादों का विश्व का छठा बड़ा बाजार है और वह अपनी पेट्रोल की जरूरतों का 60-70 प्रतिशत आयात करता है। ऐसे में यहां निवेश की संभावना है।'
 
करीब 3 साल पहले मैक्सिको ने 60 साल बाद तेल क्षेत्र को खोलना शुरू किया था। उन्होंने कहा, 'मैक्सिको के भीतर और बाहर से प्रतिक्रिया उत्साहजनक रही है। हमारे पास एक फर्म थी,जो पूरी मूल्य शृंखला का काम देखती थी। अब तेल क्षेत्र में हमारे यहां 150 से ज्यादा राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय फर्में हैं। इन फर्मों ने 200 अरब डॉलर के करीब निवेश की प्रतिबद्धता दिखाई है, जिनमें से 150 अरब डॉलर निवेश अपस्ट्रीम में होना है।'  मंत्री ने कहा कि मिड और डाउनस्ट्रीम क्षेत्रों में भी यही स्थिति है।  इसके प्राकृतिक गैर बाजार में 60 से ज्यादा पंजीकृत हिस्सेदार ौर 24 फर्में हैं, जो रोजाना लेनदेन करती हैं। उन्होंने कहा, 'पेट्रोल बाजार में भी बदलाव हुआ है, जहां हम चाहते हैं कि भारत साझेदारी करे। हमारे पास एक पेट्रोल ब्रॉन्ड था, जबकि अब 40 है।' उन्होंने कहा कि देश को अभी भी बेहतर भंडारण और वितरण क्षेत्र की जरूरत है। 
कीवर्ड power, electric, mexico,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक