'डेटा से खिलवाड़ की अनुमति नहीं'

भाषा |  May 27, 2018 11:51 PM IST

सरकार रातों-रात गायब होने वाली गैर-जिम्मेदाराना कंपनियों को भारतीय नागरिकों के सोशल मीडिया पर उपलब्ध डेटा का अनुचित तरीके से इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं देगी। विधि एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि सरकार सोशल मीडिया का समर्थन करती है लेकिन वह इस मंच का दुरुपयोग करने और डेटा वाणिज्य में गैर जिम्मेदाराना ट्रैफिक की अनुमति नहीं देगी।

सरकार पहले ही अमेरिका की डेटा जुटाने वाली कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका को नोटिस जारी कर चुकी है। कंपनी ने भारत सहित दुनिया के अन्य देशों के लोगों की व्यक्तिगत जानकारी गलत तरीके से जुटाकर उसका दुरुपयोग किया। फिलहाल सरकार को कंपनी के जवाब का इंतजार है। प्रसाद ने कहा, 'रातों-रात गायब होने वाले गैर-जिम्मेदार ऑपरेटरों को डेटा से खिलवाड़ की अनुमति नहीं दी जाएगी। मैं सोशल मीडिया पर अभियान के पक्ष में हूं लेकिन आप उपयोगकर्ताओं के डेटा के साथ नहीं खेल सकते।' अगले साल होने वाले आम चुनाव के लिहाज से प्रसाद का यह बयान महत्त्वपूर्ण है। कैंब्रिज एनालिटिका पर 2016 में अमेरिका के राष्ट्रपति पद के चुनाव में डॉनल्ड ट्रंप के लिए काम करने के लिए फेसबुक के करोड़ों उपयोगकर्ताओं के डेटा हासिल करने और उसी के आधार पर राजनीतिक विज्ञापन बनाने का आरोप है।

मार्च में भारत ने कैंब्रिज एनालिटिका को नोटिस जारी कर पूछा था कि क्या वह गैरकानूनी तरीके से भारतीय नागरिकों के फेसबुक आंकड़ों का इस्तेमाल कर रही है? कंपनी को दूसरा नोटिस पिछले महीने भेजा गया। प्रसाद ने कहा कि भारत ने इन डेटा कंपनियों को स्पष्ट और कड़ा संदेश दिया है, 'वे हमें हल्के में नहीं ले सकतीं। मुझे पूरा भरोसा है हम अपने देश की लोकतांत्रिक साख को मजबूत बनाए रखेंगे।' उन्होंने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय दूसरे नोटिस पर कैंब्रिज एनालिटिका के जवाब का इंतजार करेगा और उसका जवाब आने के बाद ही इस बारे में अंतिम विचार बनाया जाएगा।  

कीवर्ड रवि शंकर, डॉनल्ड ट्रंप, कैंब्रिज एनालिटिका,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक