अवांछित कॉल, मैसेज पर अंकुश लगाने के लिए ब्लॉकचेन तकनीक अपनाएगा ट्राई

बीएस संवाददाता | नई दिल्ली May 29, 2018 04:01 PM IST

दूरसंचार नियामक ट्राई ने अवांछित फोन कॉल व एसएमएस पर लगाम लगाने के लिए एक ड्राफ्ट जारी किया है जिसमें ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल का प्रस्ताव किया गया। नियामक ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल के जरिए यह सुनिश्चित करना चाहता है कि टेलीमार्केटिंग वालों के फोन या एसएमएस केवल उन्हीं को मिले जिन्होंने इसके लिए अपना नंबर दिया हो। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकार (ट्राई) के चेयरमैन आरएस शर्मा ने संवाददाताओं को यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा, 'ब्लॉकचेन से दो बातें सुनिश्चित होंगी कि केवल अधिकृत लोगों को ही ग्राहकों का ब्यौरा मिले और तभी मिले जब उन्हें सेवा देने की जरूरत हो ... इस तरह का नियम लाने वाला ट्राई पहला संगठन होगा।' दूरसंचार वाणिज्यिक संचार ग्राहक वरीयता नियमन 2018 के मसौदे को 11 जून तक आम जनता की टिप्पणी के लिए रखा गया है। नई प्रौद्योगिकी आधारित इन नियमों के तहत ग्राहकों व इकाई के बीच सभी संवाद रिकार्ड होगा, ग्राहक की रजामंदी ली जाएगी और टेलीमार्केटिंग कंपनियों को अधिकृत किया जाएगा।

ट्राई के सचिव एस के गुप्ता ने कहा, 'देखा गया है कि कई टेलीमार्केटिंग कंपनियां ग्राहकों का ब्यौरा पाने के लिए दूरसंचार कंपिनयों के यहां पंजीकरण करवा लेती हैं। नई प्रणाली के तहत अधिकृत एजेंसियों को तभी पहुंच दी जाएगी जबकि वे सेवा की आपूर्ति कर रही होंगी। उन्हें केवल उन्हीं ग्राहकों का ब्यौरा दिया जाएगा जिन्होंने इसको लेकर सहमति जताई हो।'

कीवर्ड Blockchain, bitcoin, trai, telecom sector, दूरसंचार नियामक, ट्राई, अवांछित फोन कॉल, ब्लॉकचेन तकनीक,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक