तेल के दाम में गिरावट धीमी

शाइन जैकब | नई दिल्ली May 29, 2018 10:23 PM IST

सऊदी अरब और रूस द्वारा तेल उत्पादन बढ़ाने के वादे के बाद पिछले 10 दिन में ब्रेंट क्रूड के दाम में 4.35 प्रतिशत की गिरावट आई है। वहीं भारत के क्रूड बास्केट में सिर्फ 1.9 प्रतिशत की गिरावट आई है।  आखिरकार भारत के बेंचमार्क में उतनी गिरावट क्यों नहीं दर्ज की गई, जितनी लंदन के ब्रेंट के मूल्य में दर्ज हुई, जिसके मुताबिक ज्यादातर अंतरराष्ट्रीय तेल कारोबारी चलते हैं? इसकी वजह यह है कि भारतीय बास्केट में ब्रेंट की हिस्सेदारी करीब 27.62 प्रतिशत है। 

ब्रेंट के दाम 18 मई को 78.09 डॉलर प्रति बैरल थे, जो 28 मई को गिरकर 74.69 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गए। वहीं भारतीय बास्केट की कीमतें इस अवधि में 77.43 डॉलर से गिरकर 75.95 डॉलर प्रति बैरल पर ही पहुंची हैं। भारतीय बेंचमार्क 28 मई को बंद होते वक्त स्थिर बना रहा जबकि ब्रेंट की कीमतें और गिरकर 75.71 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गईं। 

इक्रा के उपाध्यक्ष के रविचंद्रन ने कहा, 'यह अस्थायी परिदृश्य होगा। भारतीय दाम भी कम होंगे क्योंकि यह भी ओमान और दुबई की कीमतों पर निर्भर है।' वहींं दूसरी ओर एक और विशेषज्ञ का कहना है कि दीर्घावधि और कम अवधि के सौदों का भी असर होता है, क्योंकि दोनों के दाम में अंतर होता है। 

अंतरराष्ट्रीय दाम 80 डॉलर प्रति बैरल पहुंचने के बाद तेल उत्पादकों के संघ ओपेक देशों व रूस ने संयुक्त रूप से संकेत दिए कि कच्चे तेल का उत्पादन 10 लाख बैरल प्रतिदिन बढ़ाया जा सकता है। बहरहाल जानकारों की राय है कि वेनेजुएला में उत्पादन पूरी तरह से बंद होने जा रहा है, ऐसे मे अंतरराष्ट्रीय कीमतों में गिरावट अस्थायी साबित हो सकता है। 

भारतीय बास्केट का मूल्य क्या है?

भारतीय क्रूड बास्केट में ओमान और दुबई के सोर क्रूड मूल्य बेंचमार्क और ब्रेंट स्वीट क्रूड मूल्य बेंचमार्क शामिल होता है। सोर क्रूड में बड़ी मात्रा में सल्फर होता है और इसके शोधन की लागत ज्यादा होती है, वहीं स्वीट क्रूड में सल्फर की मात्रा कम होती है। 2016-17 में ओमान और दुबई बेंचमार्क का भारतीय बास्केट में अनुपात 72.28:27.62 का था। भारतीय बास्केट का मूल्य भारत में आयातित कच्चे तेल के दाम के संकेतक के रूप में देखा जाता है। 

कच्चे तेल के दाम में जहां कमी आ रही है, लगातार 15वें दिन पेट्रोल व डीजल के खुदरा दाम बढ़कर दिल्ली में क्रमश: 78.43 रुपये प्रति लीटर और 69.31 रुपये प्रति लीटर की नई ऊंचाई पर पहुंच गए हैं। रविचंद्रन ने कहा, 'खुदरा दाम नहीं कम हो रहे हैं क्योंकि हम अंतरराष्ट्रीय मूल्य के 15 दिन के औसत के हिसाब से मूल्य तय करते हैं।' मुंबई में डीजल व पेट्रोल के दाम अब तक के सर्वोच्च स्तर पर क्रमश: 86.24 रुपये प्रति लीटर और 73.79 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच चुके हैं। 

इन दो उत्पादों का आधार मूल्य उनके वैश्विक बेंचमार्क के मुताबिक तय किया जाता है। वैश्विक दाम में मौजूदा गिरावट का असर अगले सप्ताह से असर आने लगेगा। 
कीवर्ड सऊदी अरब, रूस, तेल, ओपेक,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक