दिल्ली: मई में घटा जीएसटी संग्रह

बीएस संवाददाता | नई दिल्ली Jun 08, 2018 09:44 PM IST

दिल्ली सरकार को मई महीने में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) संग्रह मामले में जबरदस्त झटका लगा है। चालू वित्त वर्ष के पहले माह लक्ष्य से ज्यादा और पिछले वित्त वर्ष लक्ष्य से थोड़ा कम जीएसटी वसूलने वाली सरकार मई में लक्ष्य का करीब 56 फीसदी ही वसूल पाई। हालांकि वैट संग्रह के लिहाज से मई महीना दिल्ली सरकार के लिए अच्छा रहा। पेट्रोल-डीजल के दाम बढऩे से मई में अप्रैल के मुकाबले वैट वसूली बढ़ी है। दिल्ली वैट व जीएसटी विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि मई महीने में एसजीएसटी के 797 करोड़ रुपये और आईजीएसटी के 367 करोड़ रुपये को मिलाकर कुल 1,164 करोड़ रुपये की जीएसटी वसूली हुई, जो इस वित्त वर्ष के लिए निर्धारित मासिक लक्ष्य 2,072 करोड़ रुपये का करीब 56 फीसदी है। लक्ष्य से कम वसूली होने पर दिल्ली सरकार को केंद्र सरकार से क्षतिपूर्ति मिलेगी। अप्रैल में एसजीएसटी व आईजीएसटी के रूप में 2,076 करोड़ रुपये की वसूली हुई थी, जो निर्धारित लक्ष्य से ज्यादा थी। अप्रैल में वैट संग्रह 392 करोड़ रुपये रहा। मई महीने में वैट को मिलाकर कुल कर संग्रह करीब 1,700 करोड़ रुपये रहा है, जो पिछले साल मई के 1,738 करोड़ रुपये के मुकाबले भी कम है। अधिकारी का कहना है कि मई महीने में जीएसटी वसूली में बड़ी गिरावट का फिलहाल कोई ठोस कारण समझ नहीं आ रहा है।
 
उधर, दिल्ली सरकार ने वैट वसूली के मामले में अच्छा प्रदर्शन किया। मई में वैट के रूप में 535 करोड़ रुपये प्राप्त हुए, जो अप्रैल महीने के 392 करोड़ रुपये से अधिक है। अधिकारी ने कहा वैट संग्रह बढऩे की अहम वजह पेट्रोल-डीजल के दाम बढऩा है क्योंकि जीएसटी आने के बाद से वैट में सबसे ज्यादा हिस्सेदारी डीजल-पेट्रोल की ही रह गई है। अप्रैल महीने में दिल्ली सरकार के जीएसटी व वैट संग्रह में करीब 42 फीसदी वृद्घि हुई थी। पिछले वित्त वर्ष दिल्ली सरकार को जीएसटी व वैट के रूप में 26,338 करोड़ रुपये प्राप्त हुए थे, जो निर्धारित लक्ष्य 26,000 करोड़ रुपये से अधिक थे। पिछले वित्त वर्ष दिल्ली सरकार ने पहली बार निर्धारित लक्ष्य से ज्यादा राजस्व अर्जित किया था।
कीवर्ड delhi, GST, वस्तु एवं सेवा कर, जीएसटी,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक