आईजीएसटी इनपुट क्रेडिट के कम दावों को लेकर नोटिस

एजेंसियां | नई दिल्ली Jun 08, 2018 09:51 PM IST

कर अधिकारियों ने उन कारोबारों को नोटिस भेजना शुरू कर दिया है जिन्होंने जीएसटी नेटवर्क (जीएसटीएन) द्वारा सृजित किए गए क्रेडिट दावे के बदले सेल्स रिटर्न भरते समय कम आईजीएसटी इनपुट टैक्स क्रेडिट का दावा किया है।अधिकारियों का कहना है कि यह कार्रवाई यह पता लगाने के लिए की जा रही है कि यह विसंगति कारोबारों की वास्तविक गलतियों की वजह से है या फिर कर बचाने की जुगत है। ये नोटिस राजस्व विभाग द्वारा किए गए बड़े आंकड़ों के विश्लेषण के बाद तैयार किए गए हैं। इसमेंं उन डीलरों और कारोबारों की सूची तैयार की गई है जिन्होंने सारांश रिटर्न जीएसटीआर-3बी में पहले भेजे जा चुके या जीएसटीआर-2ए में दिखाई पड़े रहे आईजीएसटी इनपुट टैक्स क्रेडिट (आईटीसी) से कम का दावा किया है।
 
अधिकारियों ने बताया कि इस प्रकार के नोटिस मुंबई, चेन्नई और बेंगलूरु के कई कारोबारों को भेजा गया है।  नोटिस के मुताबिक जीएसटी अधिकारियों ने विसंगतियों की ओर इशारा किया है और करदाताओं को कहा है कि वे आगामी महीने के रिटर्न में इनपुट क्रेडिट या रिफंड का दावा करें। विश्लेषण जीएसटी शुरू होने के पहले नौ महीने जुलाई से मार्च के बीच के आंकड़ों के आधार पर किया गया है। केंद्रीय वित्त मंत्री की अध्यक्षता में मार्च महीने में हुई जीएसटी परिषद की बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिया गया था कि वे कर चोरी  रोकने के लिए आंकड़ों का विश्लेषण करें। 
कीवर्ड income tax, CBDT, आयकर विभाग कराधान,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक