पीएमआई : सेवा गतिविधियों में लगातार दूसरे महीने सुधार

भाषा | नई दिल्‍ली Nov 03, 2017 02:03 PM IST

मांग की स्थिति में सुधार और नए ऑर्डर बढऩे से सेवा क्षेत्र की गतिविधियों में अक्‍टूबर में लगातार दूसरे महीने सुधार रहा। एक मासिक सर्वे के अनुसार जून के बाद नए ऑर्डर में सर्वाधिक तेजी से वृद्धि दर्ज की गई है। निक्केई इंडिया सर्विसेज पीएमआई (परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स) व्यापार गतिविधियां अक्‍टूबर में 50.7 रहीं। यह क्षेत्र में हल्की वृद्धि का संकेत है क्योंकि यह दीर्घकालीन श्रृंखला औसत 54.7 से कम बना हुआ है। पीएमआई के तहत 50 से अधिक का मतलब विस्तार और उससे कम अंक संकुचन को बताता है।

रिपोर्ट तैयार करने वाली आईएचएस मार्किट की अर्थशास्त्री आशना दोधिया ने कहा, सेवा क्षेत्र में जून के बाद नए कारोबार में तीव्र वृद्धि हुई है। उत्पादन जरूरतों को पूरा करने के लिए सेवा प्रदाताओं ने लगातार दूसरे महीने अधिक लोगों को नियुक्त किया। लेकिन रोजगार सृजन की दर सितंबर से धीमी है। इससे पहले, बुधवार को विनिर्माण क्षेत्र के लिए पीएमआई जारी किया गया था। उसके अनुसार विनिर्माण क्षेत्र की गतिविधियों की रफ्तार धीमी हुई हैं। निक्केई कंपोजिट आउटपुट सूचकांक अक्‍टूबर में 51.3 रहा जो सितंबर में 51.1 था। यह मद्धिम दर से वृद्धि को बताता है। हालांकि सेवा प्रदाताओं ने अगले 12 महीनों के लिए गतिविधियों को लेकर परिदृश्य सकारात्मक बताया है लेकिन व्यापार विश्वास का स्तर जून के बाद सबसे कम है।

सर्वे में कहा गया है कि विशेषज्ञ कारोबारी विश्वास को जीएसटी से आने वाले समय में होने वाले लाभ से जोड़ रहे हैं। आशना ने कहा, कंपोजिट पीएमआई जून के बाद सर्वाधिक रहने को देखते हुए आईएचएस मार्किट का अनुमान है कि सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 2017-18 में 6.8 प्रतिशत वृद्धि होगी।

कीवर्ड पीएमआई, सेवा गतिविधियां, ऑर्डर, सर्वे, निक्केई इंडिया, परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स, रिपोर्ट,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक