एनपीसीआई के डिजिटल प्लेटफॉर्म में गति, 14.55 करोड़ लेनदेन हुए पंजीकृत

भाषा | कोलकाता Jan 05, 2018 01:03 PM IST

देश में सभी खुदरा लेनदेनों का हिसाब-किताब रखने वाले संगठन भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) के डिजिटल एकीकृत भुगतान इंटरफेस (यूपीआई) पर दिसंबर 2017 में 14.55 करोड़ लेनदेन पंजीकृत हुए हैं। एनपीसीआई के एक अधिकारी ने पीटीआई-भाषा से कहा कि दिसंबर 2017 में इन लेनदेनों का मूल्य भी बढ़ा है। यह 13,144 करोड़ रुपये रहा है जो जनवरी 2017 में मात्र 1,568 करोड़ रुपये था। यूपीआई पर लेनदेन की संख्या में वृद्धि जुलाई के बाद से देखी गई है। उस समय यह मात्र 1.14 करोड़ ही थी। इसके बाद सितंबर और अक्‍टूबर में मासिक आधार पर इसमें 100 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। बाद में नवंबर और दिसंबर में यह 40 प्रतिशत के नीचे ही रही।

अधिकारी ने कहा कि एपीसीआई द्वारा प्रबंधित यूपीआई ऐप भीम (भारत इंटरफेस फॉर मनी) पर केवल 90 लाख लेनदेन ही हुए हैं। भीम के डाउनलोड को बढ़ाने के लिए रिफरल प्रसार अभियान भी चलाया जा रहा है जिसमें 25 रुपये के कैशबैक का ऑफर दिया जा रहा है। एनपीसीआई के यूपीआई मंच का उपयोग बैंक और वित्तीय संस्थान भी कर सकते हैं। इसके माध्यम से वह बिना बैंक की जानकारी साझा किए सीधे डिजिटल भुगतान की सेवा दे सकते हैं। दिसंबर 2017 तक एनपीसीआई के यूपीआई मंच से जुड़े बैंकों की कुल संख्या 67 हो गई। यूपीआई, बैंक ग्राहकों को कई बैंक खातों को लिंक करने की भी सुविधा देती है।

कीवर्ड एनपीसीआई, डिजिटल प्लेटफॉर्म, लेनदेन, भुगतान, यूपीआई, ऐप, भीम, बैंक, ग्राहक,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक