महंगे डीजल से मुश्किल में ट्रांसपोर्टर

रामवीर सिंह गुर्जर | नई दिल्ली Apr 24, 2018 10:45 PM IST

दिल्ली में बीते छह माह में 15 फीसदी महंगा हुआ डीजल
ट्रांसपोर्टरों का मुनाफा घटा, हड़ताल करने पर हो रहा विचार

लगातार महंगे होते डीजल ने ट्रांसपोर्टरों को मुश्किल में डाल दिया है। ट्रांसपोर्टरों की लागत डीजल की हिस्सेदारी सबसे ज्यादा होती है, इसलिए लगातार महंगे होते डीजल से ट्रांसपोर्टरों के मुनाफे पर चोट पड़ रही है। आए दिन डीजल के दाम बढऩे से नाराज ट्रांसपोर्टर सरकार पर दबाव डालने के लिए हड़ताल करने पर विचार कर रहे हैं। ट्रांसपोर्टरों ने डीजल की महंगाई से राहत के लिए केंद्र व राज्य सरकारों से कर घटाने की मांग की है।

बीते छह माह के दौरान डीजल के दाम 15 फीसदी बढ़ चुके हैं। मंगलवार को दिल्ली में डीजल की कीमत 65.93 रुपये लीटर रही। ऑल इंडिया ट्रांसपोर्टर्स वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रदीप सिंघल ने कहा कि आए दिन दाम बढऩे का बोझ माल बुक कराने वालों पर डालना संभव नहीं है क्योंकि बुकिंग सौदे लंबी अवधि के होते हैं। ऐसे में बढ़े हुए दाम का ज्यादातर हिस्सा ट्रांसपोर्टरों को वहन करना पड़ रहा है, जिससे मुनाफे पर चोट पड़ रही है।

साल भर में मुनाफा 5-7 फीसदी से घटकर 3-4 फीसदी रह गया है। इस समय तो ट्रांसपोर्टरों को नुकसान तक उठाना पड़ रहा है। ऑल इंडिया मोटर कांग्रेस ट्रांसपोर्ट के महासचिव नवीन कुमार गुप्ता कहते हैं कि डीजल कीमतों में लगातार व भारी वृद्घि से ट्रांसपोर्टरों का मुनाफा प्रभावित हो रहा है। डीजल वृद्घि के खिलाफ हड़ताल जैसी रणनीति के बारे में गुप्ता ने कहा कि ट्रांसपोर्ट उद्योग की तरफ से ऐसी मांग उठ रही है। लेकिन इस पर अगले माह होने वाली बैठक में ही कुछ निर्णय हो सकता है।

सिंघल ने भी कहा कि ट्रांसपोर्टर हड़ताल करने पर चर्चा कर रहे हैं। दिल्ली गुड्स ट्रांसपोर्ट ऑर्गेनाइजेशन के अध्यक्ष राजेंद्र कपूर ने कहा कि जिस तरह से डीजल के दाम बढ़ रहे हैं और सरकार हस्तक्षेप नहीं कर रही है, ऐसे में ट्रांसपोर्टर हड़ताल पर जा सकते हैं।

कीवर्ड delhi, transporter, diesel, डीजल, ट्रांसपोर्टर, , मुनाफे पर चोट, हड़ताल,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक