अब चौबीस घंटे बिजली देने का लक्ष्य

ज्योति मुकुल | नई दिल्ली May 02, 2018 12:39 PM IST


सरकार देश के सभी गांवों को बिजली मुहैया करा रही है, ऐसे में अगला कदम दिसंबर 2018 के पहले सौभाग्य योजना के तहत बिजली आपूर्ति होगी। केंद्रीय बिजली मंत्री आरके सिंह ने कहा बिजली कनेक्शन लेना ग्राहकोंं की इच्छा पर निर्भर है। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार यह लक्ष्य हासिल करने में मदद करेगी।  सिंह ने कहा कि सरकार सबके लिए चौबीस घंटे बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने की अंतिम तिथि घटाकर 31 दिसंबर 2018 करने पर विचार कर रही है।

16,320 करोड़ रुपये की सौभाग्य योजना के लिए शुरुआत में 31 मार्च 2019 अंतिम तिथि तय की गई थी। सिंह ने कहा, 'हमने राज्यों के साथ 2015 में समझौता किया था कि हम सभी लोगों को 24 घंटे बिजली मुहैया कराना चाहते हैं और इस पर सभी राज्यों ने हस्ताक्षर किए थे। इसके लिए अंतिम तिथि 31 मार्च 2019 तय की गई थी।'

उन्होंने कहा कि वितरण कंपनियां बिजली खरीद सकती हैं, जिसके लिए केंद्र सरकार ने उन्हें पर्याप्त राशि मुहैया कराई है, जिससे कि वे अपने वितरण एवं पारेषण तंत्र को मजबूत कर सकें, लेकिन घाटे में होने की वजह से वे ऐसा नहींं कर रही हैं।  सरकार का अनुमान है कि विद्युतीकरण से बढ़ी मांग पूरी करने के लिए 28,000 मेगावॉट अतिरिक्त बिजली की जरूरत होगी, क्योंकि इससे मांग पर बहुत असर पड़ा है।

सिंह ने कहा, 'गावों में पहुंचने के बाद घरों में बिजली ग्राहकों की इच्छा पर पर निर्भर है। हमने पहला चरण पूरा कर लिया है।' ग्रामीण विद्युतीकरण मेंं मोदी ने सिर्फ आखिरी चरण का काम किया है, विपक्ष की इस आलोचना को खारिज करते हुए सिंह ने कहा कि अगर यह इतना ही आसान था तो उन्होंने (संप्रग सरकार) क्यों नहींं कर दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 28 अप्रैल को ट्वीट के माध्यम से घोषणा की थी कि 18,374 गांवों का विद्युतीकरण किए जाने के बाद 100 प्रतिशत ग्रामीण विद्युतीकरण का लक्ष्य हासिल किया जा चुका है।

जनगणना वाले कुल 19,679 गांवोंं का विद्युतीकरण होना था, लेकिन राज्य सरकारों ने रिपोर्ट दी है कि 1,305 गांवों में कोई नहींं रहता है।  बिजली सचिव एके भल्ला के मुताबिक कुल 3.13 करोड़ मकानों का विद्युतीकरण बचा हुआ है। औसतन गांवों में 82 प्रतिशत मकानों का विद्युतीकरण हो चुका है। भल्ला ने कहा कि बिजली की मांग पूरी करने के लिए पर्याप्त बिजली उपलब्ध है। इस समय देश मेंं 225 गीगावॉट बिजली उपलब्ध है। 

कीवर्ड power, electric, सरकार, सभी गांवों को बिजली, सौभाग्य योजना, कनेक्शन,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक