अब बर्फ के होंगे दो रंग

सुशील मिश्र |  May 11, 2018 11:35 AM IST

नीली बर्फ औद्योगिक इस्तेमाल के लिए
वहीं सफेद बर्फ मानव उपभोग के लिए होगा

दूषित बर्फ बनाना और बेचना अब मुश्किल हो जाएगा क्योंकि औद्योगिक उपयोग वाली बर्फ और खाने वाली बर्फ का रंग अलग-अलग होगा। महाराष्ट्र सरकार ने मार्च केअंत में औद्योगिक उपयोग वाली बर्फ का रंग बदलकर नीला करने की अधिसूचना जारी की थी। राज्य सरकार के इस पैटर्न को देश के सभी राज्यों में लागू किया जाएगा। महाराष्ट्र सरकार के इस कानून को केंद्र सरकार ने देशभर में 1 जून से लागू करने का फैसला लिया है।

नए नियम के मुताबिक खाने वाली बर्फ का रंग सफेद होगा। नियम नहीं मानने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। दूषित बïर्फ के कारण हजारों लोग बीमार होते हैं, इसके बावजूद सरकार बïर्फ बनाने वाली कंपनियों और बेचने वालों पर कार्रवाई नहीं कर पाती थी। क्योंकि खाने वाली बर्फ और औद्योगिक बर्फ का रंग एक जैसा होने के कारण इसे पहचानना मुश्किल होता है। 

इस समस्या से निपटने के लिए महाराष्ट्र खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) ने औद्योगिक बर्फ और खाद्य बïïर्फ का रंग अलग-अलग करने का कानून राज्य में लागू किया। बर्फ के रंग बदलने के पैटर्न को केंद्र सरकार ने भी मंजूरी दे दी है। अब इसे पूरे देश में लागू किया जाएगा।

महाराष्ट्र के अन्न एवं औषधि प्रशासन मंत्री गिरीश बापट के मुताबिक बïïर्फ में हो वाली मिलावट के कारण लोगों के स्वास्थ्य पर दुष्परिणाम होता है, सामान्य जनता खाद्य एवं अखाद्य बर्फ की पहचान कर सके इसके लिए हल्के नीले रंग के उपयोग का प्रस्ताव तैयार किया था जिसको बजट सत्र में पारित करके कानून में तब्दील कर दिया गया है। राज्य में यह अधिसूचना लागू करने के बाद हमने यह प्रस्ताव केंद्र को भेजा था। केंद्र के खाद्य संरक्षा प्राधिकरण ने महाराष्ट्र का यह प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है। इसके साथ ही देश के अन्य राज्यो में भी इस नियम का पालन करने का आदेश दिया गया है। 

कीवर्ड ICE, color, pollution, बर्फ, महाराष्ट्र, सरकार,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक