एमएसएमई, आयुष मंत्रालय परंपरागत चिकित्सा उपक्रम विकसित करेंगे

भाषा | नई दिल्ली Jun 05, 2018 12:14 PM IST

सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम (एमएसएमई) तथा आयुष मंत्रालय ने परंपरागत चिकित्सा क्षेत्र में उपक्रम के विकास के लिए हाथ मिलाया है। एक आधिकारिक बयान के अनुसार भागीदारी का मकसद समग्र स्वास्थ्य देखभाल के क्षेत्र में भारत को विश्व में अगुवा बनाना है। भागीदारी के तहत दोनों मंत्रालय उद्यमिता विकास के लिए क्षेत्रीय कार्यशालाओं का आयोजन करेंगे।

एमएसएमई मंत्रालय लघु उद्योगों को कर्ज देने वाली संस्था सिडबी का लाभ उठाने के लिए आयुष उद्योगों के लिए नई योजना तैयार करेगी। आयुष उद्योग में आयुर्वेद, यूनानी, सिद्धा और होम्योपैथी औषधि बनाने वाली औद्योगिकी इकाइयां शामिल हैं। इसके साथ ही सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्र के स्वास्थ्य देखभाल केन्द्र भी इसमें आते हैं जिनमें एमएसएमई इकाईयां ही अधिक हैं।

कीवर्ड medicine, natural medicine, MSME, health, सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम, एमएसएमई, आयुष मंत्रालय, परंपरागत चिकित्सा,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक