होम » International
«वापस

भारत में टेलीफोन खंभों के निवेश पर बहस करता था विश्वबैंक

भाषा | वाशिंगटन Feb 27, 2018 04:28 PM IST

विश्व बैंक के भीतर करीब 25 साल पहले इस बात पर गर्मागर्म बहस हो रही थी कि उसे भारत में टेलीफोन के खंभों में निवेश करना चाहिए या नहीं। विश्व बैंक के वर्तमान अध्यक्ष जिम योंग किम ने इसका खुलासा करते हुए कहा कि खुशकिस्मती से हमने इसके खिलाफ निर्णय किया था। किम कौंसिल ऑन फॉरेन रिलेशंस द्वारा आर्थिक वृद्धि एवं सुरक्षा के भविष्य पर न्यूयॉर्क में आयोजित एक परिचर्चा में आर्थिक वृद्धि के नए मॉडल की तलाश की चुनौतियों के बारे में बोल रहे थे। किम ने कहा, एक करीबी दोस्त ने उन्हें बताया कि करीब 25 साल पहले भारत में टेलीफोन खंभों में निवेश करने को लेकर विश्वबैंक में गर्मागर्म बहस हुई थी। उन्होंने कहा कि विश्व बैंक के सामने आर्थिक वृद्धि के नए मॉडल की तलाश करने की चुनौती थी। उन्होंने कहा, यह विश्व बैंक समूह में आज भी बड़ा सवाल है जिससे हम जूझ रहे हैं।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि चीन में रोबोटिक्स और स्वचालन संभवत: चरम पर है। उन्होंने कहा, यह आश्चर्यजनक है कि वे रोबोट से किस तरह के काम करा पा रहे हैं और यह लगातार पहले से बेहतर होता जा रहा है। बुनाई जैसी चीजों के बारे में सोचा जाता था कि रोबोट यह करने में सक्षम नहीं हो पाएंगे, लेकिन अभी वे ऐसा कर पा रहे हैं। किम ने कहा, हम अब सोच रहे हैं कि सहारा क्षेत्रीय अफ्रीका में यह एक संभावना हो सकती है। संभवत: पूंजी की उपलब्धता का लोकतांत्रिकरण और बाजार तक बढ़ती पहुंच के जरिये हम छोटे एवं मध्यम उपक्रमों का उभार देख सकते हैं।

कीवर्ड भारत, टेलीफोन, निवेश, विश्वबैंक, जिम योंग किम, रोबोटिक्स, अफ्रीका,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक