होम » International
«वापस

अमेरिका के साथ चीन का व्यापार अधिशेष 20% बढ़कर 58 अरब डॉलर तक पहुंचा

एएफपी | पेइचिंग Apr 13, 2018 04:01 PM IST

अमेरिका के साथ चीन का व्यापार अधिशेष (आयात के मुकाबले निर्यात की बढ़त) इस वर्ष पहली तिमाही में 20 प्रतिशत बढ़ कर 58 अरब डॉलर तक पहुंच गया है। विश्व की इन दो आर्थिक महाशक्तियों में व्यापार संतुलन के मुद्दे पर तनाव के बीच विश्व की दूसरी अर्थव्यस्था वाले चीन ने दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यस्था वाले अमेरिका को धैर्य रखने को कहा है। अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्ंरप द्वारा चीन के 100 अरब डॉलर मूल्य के कुछ और माल पर ऊंचा आयात शुल्क लगाने की धमकी के बाद से चीन और अमेरिका के बीच व्यापार युद्ध गहरा गया है। इसके जवाब में चीन ने भी इसी तरह की कार्रवाई की धमकी दी है।

नवीनतम आंकड़े दर्शाते हैं कि द्विपक्षीय व्यापार में चीन लगातार लाभ की स्थिति में बना हुआ है। अमेरिका के साथ चीन का व्यापार अधिशेष जनवरी-मार्च में 19.4 प्रतिशत बढ़कर 58 अरब डॉलर हो गया। इस दौरान निर्यात में 14.8 प्रतिशत और आयात में 8.9 प्रतिशत की वृद्धि हई है। हालांकि, मार्च में अधिशेष गिरकर 15.4 अरब डॉलर रहा जो कि फरवरी में 21 अरब डॉलर था। इस बार मार्च में चीन का अमेरिका के साथ व्यापार अधिशेष 12 माह पहले के 17.7 अरब डॉलर से भी नीचे है। पिछले महीने चीन का विश्व के अन्य देशों के साथ कुल मिलाकर व्यापार घाटा अधिशेष 4.98 अरब डॉलर घाटे में रहा। यह बिरला उदाहरण है, जबकि अमेरिका को छोड़ बाकी दुनिया के साथ चीन का व्यापार अधिशेष उसके विरुद्ध है। चीन में चंद्र वर्ष की छुट्टियों आदि को इसका बताया जा रहा है।

हालिया तनाव को लेकर चीन के सीमा शुल्क ब्यूरो के प्रवक्ता हुआंग सांगपिंग ने दोहराया कि चीन अपने व्यापार भागीदारों से अधिक फायदा उठाने की नहीं सोचता है। उन्होंने कहा, हम व्यापार संतुलन को चीन के अनुकूल बनाने का प्रयास नहीं करते हैं। वर्तमान में व्यापार की स्थिति बाजार के कारण हैं। हमें उम्मीद है कि अमेरिका व्यापार संतुलन के मुद्दे को तर्कसंगत और व्यावहारिक बनाने के लिए उठ रही आवाजों को धैर्यपूर्वक सुनेगा। उन्होंने दोहराया कि चीन व्यापार युद्ध नहीं चाहता है। व्यापार टकराव न ही चीन के हित में है और न ही अमेरिका के हित में है। हालांकि, हाल के दिनों में चीनी अधिकारियों ने यह दोहराया है कि दोनों पक्ष इस मुद्दे पर बातचीत नहीं कर रहे हैं। चीन के वाणिज्य मंत्रालय के प्रवक्ता गाओ फेंग ने आज कहा कि अमेरिका ने बातचीत के लिए जरुरी गंभीरता नहीं दर्शाई है।

कीवर्ड अमेरिका, चीन, व्यापार अधिशेष, डॉलर, आयात, निर्यात, डॉनल्ड ट्ंरप, व्यापार युद्ध,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक