होम » International
«वापस

अफ्रीका के साथ व्यापार बढ़ाने की कार्य योजना बनाएगा वाणिज्य मंत्रालय

भाषा | नई दिल्ली May 07, 2018 04:15 PM IST

वाणिज्य मंत्रालय ने अफ्रीका के साथ व्यापार को गति देने के लिए व्यापक योजना तैयार करने का फैसला किया है। केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने बताया कि दोनों क्षेत्रों के बीच व्यापार और निवेश को बढ़ावा देने के उपायों पर चर्चा के लिए अफ्रीका के विभिन्न भागों में कई गतिविधियां शुरू की गई हैं। दोनों क्षेत्रों के बीच व्यापार फिलहाल संभावनाओं के अपेक्षाकृत कम है। प्रभु ने कहा, नए बाजार तलाशने की हमारी रणनीति के तहत, हम अफ्रीका के साथ लगातार जुड़ रहे हैं। वहां निर्यात के लिए काफी गुंजाइश है। हमने अफ्रीका से निर्यात और आयात को गति देने के लिए कार्य योजना तैयार करने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा कि व्यापार और निवेश पर वार्ता को गति देने के लिए हमने उसे पांच भागों - पूर्वी, पश्चिमी, उत्तरी, दक्षिण तथा मध्य में विभाजित किया है। प्रभु के अनुसार, पूर्वी भाग में बातचीत पूरी हो गई है और जल्दी ही अल्जीरिया तथा नाइजीरिया में भी इस प्रकार की बातचीत शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा, इसके पीछे सोच नए बाजार की तलाश है। हम उनके साथ नियमित बैठक कर रहे हैं। अफ्रीका के साथ व्यापार अपेक्षाकृत कम है। एक तरफ भारत का निर्यात अपेक्षाकृत धीमी दर से बढ़ रहा है, वहीं दूसरी तरफ अफ्रीका में निर्यात को गति देने के लिए काफी संभावना है।

विशेषज्ञों के अनुसार भारत को सेवा समेत विभिन्न क्षेत्रों में अफ्रीकी महाद्वीप के साथ सहयोग बढ़ाने के लिए और कदम उठाने की जरूरत है। इससे पहले, प्रभु ने भारत और अफ्रीका के बीच आर्थिक संबंधों को मजबूती प्रदान के लिए मुक्त व्यापार समझौते की वकालत की थी। भारत और अफ्रीकी देशों के बीच व्यापार फिलहाल करीब 52 अरब डॉलर है।

कीवर्ड अफ्रीका, व्यापार, कार्य योजना, वाणिज्य मंत्रालय, सुरेश प्रभु, निवेश, निर्यात, आयात,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक