होम » Investments
«वापस

फार्मा शेयरों में कमजोरी के आसार

राम प्रसाद साहू |  Jun 04, 2017 09:12 PM IST

सन फार्मा के शेयर में गिरावट के बाद बीएसई हेल्थकेयर सूचकांक कमजोर हुआ है। यह सूचकांक अपने 52 सप्ताह के ऊंचे स्तर 16,865.85 से गिरकर अब 13,800.43 अंक के निचले स्तर पर आ चुका है, जबकि इस सूचकांक की सबसे बड़ी घटक सन फार्मा का शेयर एक साल के ऊंचे स्तर 854 रुपये से गिरकर मौजूदा समय में बीएसई पर 514.80 रुपये (2 जून तक) पर आ गया। कंपनी ने वित्त वर्ष 2018 में राजस्व में एक अंक की गिरावट की आशंका जताई है जिसे लेकर बाजार ने आश्चर्यचकित है।
जहां फार्मा शेयरों में बड़ी गिरावट आई है वहीं विश्लेषकों का मानना है कि किसी तरह की नकारात्मक खबरों (चाहे ये नियामकीय मोर्चे - अमेरिकी एफडीए द्वारा संयंत्र को लेकर आपत्तियां- पर हों, मंजूरी में विलंब या मूल्य निर्धारण दबाव से संबंधित हों) से इसमें 5-10 फीसदी की तेजी और आ सकती है। फार्मा क्षेत्र की प्रमुख पांच कंपनियां अब 17-18 गुना पर उपलब्ध हैं जिन्होंने एक वर्षीय आय अनुमानों के 22-25 गुना पर कारोबार किया है। इस संदर्भ में कीमत में उतार-चढ़ाव अरविंदो फार्मा द्वारा मंगलवार को खासकर मूल्य निर्धारण दबाव और उत्पाद मंजूरियों के संदर्भ में जताए गए अनुमान पर निर्भर है। सेंट्रम ब्रोकिंग के रंजीत कपाडिया जैसे विश्लेषकों का मानना है कि मौजूदा स्तरों से 10 फीसदी की गिरावट से मूल्यांकन आकर्षक स्तरों पर पहुंच जाएगा और निवेशक कम से कम दो साल की निवेश अवधि के साथ लार्ज-कैप फार्मा शेयरों में निवेश शुरू कर सकते हैं।
कई कंपनियां स्पेशियल्टी दवाओं और कॉम्पलेक्स जेनेरिक्स पर ध्यान केंद्रित कर रही हैं जिसे शुरुआती समस्याओं का सामना करना पड़ा है। वहीं इन उत्पादों पर अधिक शोध एवं विकास का सकारात्मक परिणाम सामने आने में अभी समय लगेगा और शेयरों का प्रदर्शन अल्पावधि में धीमा बना रह सकता है।

कैडिला हेल्थकेयर
यह शेयर पिछले सोमवार को दो फीसदी चढ़ गया था क्योंकि कंपनी का मार्च तिमाही का परिणाम विश्लेषकों के अनुमानों के अनुरूप था। कंपनी प्रबंधन द्वारा वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही तक मोरैया संयंत्र में समस्याओं के समाधान का संकेत दिया जाना इस शेयर के लिए अहम है। 198 एब्रिविएटेड न्यू ड्रग एप्लीकेशंस (एएनडीए) के साथ कंपनी भारतीय दवा कंपनियों में शीर्ष पर शामिल है और वित्त वर्ष 2018 के लिए 20-25 एएनडीए मंजूरियों का अनुमान व्यक्त किया गया है जिनमें कम प्रतिस्पर्धा वाले उत्पाद शामिल हैं, लेकिन यह मोरैया संयंत्र के लिए अमेरिकी एफडीए की मंजूरी पर निर्भर है। इन कारकों को देखते हुए कई विश्लेषकों ने कंपनी के लिए अपने वित्तीय अनुमानों को बढ़ा दिया है।

सिप्ला
हालांकि जहां कंपनी का चौथी तिमाही का प्रदर्शन अपनी सहायक इकाई इन्वेजेन में एकबारगी बट्टïेखाते की व्यवस्था और बायोसिमिलर सहायक इकाई में प्रावधान की वजह से प्रभावित हुआ, लेकिन यह अमेरिकी बाजार में कड़ी कीमत प्रतिस्पर्धा से स्वयं को बचाए रखने में कामयाब रही है। कंपनी के लिए भारतीय व्यवसाय को लेकर निराशा का सामना करना पड़ा है क्योंकि इस व्यवसाय से राजस्व चार फीसदी घटा है। तिमाही में कमजोर परिचालन मुनाफा मार्जिन को ध्यान में रखते हुए एसबीआईकैप रिसर्च के विश्लेषकों का मानना है कि वित्त वर्ष 2018 का परिदृश्य सुस्त बना रहेगा। कंपनी प्रबंधन ने भी मुनाफे में बड़े सुधार के लिए मजबूत संभावना नहीं जताई है।
डॉ. रेड्डïीज
भारी मूल्य निर्धारण दबाव और अमेरिकी व्यवसाय में प्रतिस्पर्धा की वजह से अमेरिकी राजस्व में 19 फीसदी की गिरावट आई जिससे चौथी तिमाही में कंपनी का प्रदर्शन प्रभावित हुआ। कंपनी ने अमेरिकी बाजार में वित्त वर्ष 2018 में 15 उत्पाद लॉन्च करने की योजना बनाई है, लेकिन विश्लेषकों का मानना है कि नियामकीय समस्याओं को देखते हुए इनमें विलंब हो सकता है। एएनडीए मंजूरियां हासिल होने में विलंब और अमेरिकी बाजार में मूल्य निर्धारण दबाव को ध्यान में रखते हुए सेंट्रम ब्रोकिंग ने वित्त वर्ष 2018 और वित्त वर्ष 2019 के आय अनुमानों को 10 फीसदी और 9 फीसदी तक घटा दिया है।

ल्यूपिन
अमेरिकी व्यवसाय पर दबाव की वजह से राजस्व भी अनुमान से नीचे रहा है और अधिक शोध एवं विकास खर्च से परिचालन मुनाफा प्रभावित हुआ है। एमके के विश्लेषकों ने अमेरिकी व्यवसाय में कीमतों में गिरावट के साथ साथ मधुमेह की दवाओं ग्लूमेत्जा और फोर्टामेट के जेनेरिक वर्सन की वैल्यू में नुकसान की वजह से वित्त वर्ष 2018 के लिए चिंताजनक आय परिदृश्य का अनुमान व्यक्त किया है। विश्लेषकों ने अगले दो साल के दौरान आय अनुमानों को 9-12 फीसदी तक घटा दिया है।

सन फार्मा
सन फार्मा के लिए अनुमान अमेरिका में जेनेरिक कीमतों में भारी गिरावट और इसकी वजह से सुस्त परिदृश्य को देखते हुए काफी हद तक सही साबित हुआ है। कंपनी को अमेरिकी बिक्री में गिरावट का सामना करना पड़ा जिससे 7 फीसदी की राजस्व गिरावट को बढ़ावा मिला और परिचालन मुनाफा मार्जिन में लगभग 8 फीसदी की कमी दर्ज की गई। चौथी तिमाही बेहद कमजोर तिमाही रही और प्रमुख चिंता हलोल संयंत्र में विलंब से जुड़ी रही है। विश्लेषकों का मानना है कि कंपनी का अमेरिकी व्यवसाय अगले कुछ वर्षों के दौरान सालाना आधार पर 8 फीसदी की गिरावट दर्ज करेगा।

कीवर्ड Pharma, shares, sun pharma,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक