होम » Investments
«वापस

एलआईसी की 'खरीद सूची' में इन्फोसिस

बीएस संवाददाता |  Aug 20, 2017 09:31 PM IST

उतार-चढ़ाव से जूझ रही इन्फोसिस देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी एलआईसी की 'खरीदारी सूची' में बरकरार है। भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के एक वरिष्ठï अधिकारी ने कहा, 'हमारा निवेश प्रक्रिया पर आधारित होता है। कंपनी में हम इसी दृष्टिïकोण से निवेश कर रहे हैं। इन्फोसिस इस महीने हमारी 'खरीद सूची' में शामिल है। हम इस कंपनी के शेयरों में खरीदारी बरकरार रखेंगे।'
अधिकारी ने बताया कि बीमा कंपनी ने इन्फोसिस में शुक्रवार को कई हजार शेयर खरीदे। शुक्रवार को इस शेयर में प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्याधिकारी विशाल सिक्का के इस्तीफे के बाद 13 फीसदी तक की भारी गिरावट दर्ज की गई थी। शुक्रवार को यह शहर पूर्ववर्ती बंद स्तर 1,021 रुपये की तुलना में 9.6 फीसदी गिरकर 923 रुपये पर बंद हुआ था। दिन के कारोबार में यह शएयर 882.20 रुपये तक गिर गया। एनएसई में जहां 7600 करोड़ रुपये का कारोबार हुआ वहीं बीएसई में करीब 750 कोरड़ रुपये का कारोबार दर्ज किया गया।
इसके एक दिन बाद ही इन्फोसिस के बोर्ड ने 1150 रुपये प्रति शेयर की कीमत पर 13,000 करोड़ रुपये की शेयर पुनर्खरीद को मंजूरी प्रदान की है। एलआईसी के अधिकारी ने कहा कि पुनर्खरीद कीमत 'आकर्षक' है और इस बारे में जल्द ही निर्णय लिया जाएगा कि इस पुनर्खरीद कार्यक्रम में कितने शेयर सौंपे जाएंगे। पुनर्खरीद की समय-सीमा की घोषणा 30 अगस्त को शेयरधारकों की मंजूरी के बाद की जाएगी।
जून तिमाही तक की शेयधारिता के अनुसार एलआईसी 7 फीसदी की हिस्सेदारी के साथ इन्फोसिस में सबसे बड़ी संस्थागत शेयरधारक है। इसके बाद 2.16 फीसदी के साथ ओपनहेमर फंड्ïस का स्थान है। इसमें सिंगापुर सरकार की जीआईसी की भागीदारी 2.11 फीसदी है।

कीवर्ड LIC, infosys, Shares,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक