होम » Investments
«वापस

कॉरपोरेट बॉन्ड की कुल निवेश सीमा से बाहर होगा मसाला बॉन्ड

अनूप रॉय | मुंबई Sep 22, 2017 09:57 PM IST

भारतीय रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को कहा कि मसाला बॉन्ड के तौर पर मशहूर विदेश में जारी रुपये वाला बॉन्ड कॉरपोरेट बॉन्ड की कुल सीमा का हिस्सा नहीं होगा और इससे जुड़े 44,000 करोड़ रुपये के बॉन्ड निवेशकों के लिए अलग से आवंटित किए जाएंगे। इस तरह से विदेशी निवेशकों के लिए कॉरपोरेट बॉन्ड में निवेश की सीमा बढ़ गई है।
अभी विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों के लिए कॉरपोरेट बॉन्ड में निवेश की सीमा 2,44,323 करोड़ रुपये है, जिसमें मसाला बॉन्ड शामिल है। एफपीआई ने कॉरपोरेट बॉन्ड में निवेश की 99.07 फीसदी सीमा पूरी कर ली है। अमेरिकी प्रतिफल में इजाफे के साथ भारतीय प्रतिभूति बाजार भी दबाव में आ गया है।
वेबसाइट पर दर्ज अधिसूचना में केंद्रीय बैंक ने कहा कि मसाला बॉन्ड की तरफ से खाली की गई जगह अगली दो तिमाही में एफपीआई निवेश के लिए जारी की जाएगी, तीसरी तिमाही में 27,000 करोड़ रुपये और चौथी तिमाही में 17,001 करोड़ रुपये। कुल रकम में हर तिमाही में 9,500-9,500 करोड़ रुपये बुनियादी ढांचा क्षेत्र में सिर्फ लंबी अवधि के एफपीआई मसलन सॉवरिन वेल्थ फंडों, मल्टीलेटरल एजेंसियों, एन्डॉमेंट फंडों, बीमा फंडों, पेंशन फंडों और विदेशी केंद्रीय बैंकों के लिए होंगे।

कीवर्ड मसाला बॉन्ड, कॉरपोरेट बॉन्ड, investment,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक