होम » Investments
«वापस

सभी क्षेत्रों के लिए लाभ अलग अलग हो सकता है

अदिति दिवेकर |  Nov 26, 2017 09:58 PM IST

लॉजिस्टिक क्षेत्र में इन्फ्रास्ट्रक्चर दर्जे से भले ही कंपनियों के लिए उधारी लागत में कमी आएगी, लेकिन इस दर्जे से मिलने वाले लाभ की मात्रा हरेक सेगमेंट के लिए अलग अलग होगी।  टीसीआई एक्सप्रेस के प्रबंध निदेशक चंदर अग्रवाल कहते हैं, 'उधारी की लागत नीचे आने से एयर कारगो टर्मिनल और एक्सप्रेस ट्रक टर्मिनल जैसे क्षेत्रों में बड़ा निवेश देखा जा सकता है।' ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया की सहायक इकाई टीसीआई एक्सप्रेस देश में एक्सप्रेस वितरण में अग्रणी है। अग्रवाल का कहना है, 'एक्सप्रेस इंडस्ट्रीज के लिए, उधारी की मौजूदा लागत 7 प्रतिशत है और इसमें 200 आधार अंक तक की कमी आने की संभावना है। इससे निवेश में कई गुना इजाफा करने, परिचालन में गुणवत्ता और मानकीकरण पर ध्यान केंद्रित करने में मदद मिलेगी।'

 
अगले पांच वर्षों के दौरान 400 करोड़ रुपये के निवेश की योजना बना चुकी टीसीआई एक्सप्रेस घटती उधारी लागत के साथ बढ़ रहे अवसरों पर ध्यान में रखकर अपना निवेश बढ़ा सकती है। विश्लेषकों का कहना है कि फिलहाल वर्ष 2012 में इन्फ्रास्ट्रक्चर का दर्जा प्राप्त कर चुके घरेलू कोल्ड चेन सेक्टर में कोई बड़ा बदलाव आने की संभावना नहीं दिख रही है। स्नोमैन लॉजिस्टिक्स, कोल्डस्टार लॉजिस्टिक्स और कोल्डईएक्स भारत में कोल्ड चेन सेगमेंट का अहम हिस्सा हैं। 
 
भंडारण में निजी इक्विटी फंडिंग की रफ्तार तेजी से बढऩे से सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (पीएसबी), बीमा कंपनियों और पेंशन फंडों से दिलचस्पी देखी जा सकती है। अलकारगो लॉजिस्टिक्स, ब्लू डार्ट, कंटेनर कॉरपोरेशन, डीटीडीसी, नवकर कॉरपोरेशन और डीएचएल देश में प्रमुख भंडारण कंपनियों में शामिल हैं। भंडारण उद्योग में औद्योगिक गोदामों को इन्फ्रास्ट्रक्चर दर्जा मिलने से अधिक फायदा होने की संभावना है। कृषि-केंद्रित गोदाम पहले से ही यह फायदा उठा रहे हैं। हालांकि भविष्य में दोनों तरह के गोदामों के लिए मार्जिन में सुधार आएगा। 
 
केयर रेटिंग्स में वरिष्ठï प्रबंधक हितेश अवचत ने कहा, 'कृषि-आधारित गोदाम इन्फ्रास्ट्रक्चर दर्जे की वजह से 23 फीसदी जीएसटी समाप्त हुआ है और मैटेरियल हैंडलिंग उपकरण के लिए उधारी सस्ती हो रही है।' कृषि भंडारण की मांग मुख्य रूप से सरकारी उद्यमों और असंगठित बाजार द्वारा पूरी की जाती है। उन्होंने कहा कि औद्योगिक गोदामों के लिए लाभ व्यापक है, जिसमें सस्ती फंडिंग और माल प्रबंधन के लिए सस्ती दर पर उधारी शामिल है। इस उद्योग के कई जानकारों का कहना है कि लॉजिस्टिक उद्योग के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर के दर्जे से जहां ब्याज दरें नीचे आएंगी वहीं जीएसटी क्रियान्वयन भी दीर्घावधि में व्यवसाय को सुगम बनाएगा।
कीवर्ड logistic, cold chain, park,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक