होम » Investments
«वापस

जनवरी-मार्च में निजी इक्विटी निवेश 49 प्रतिशत घटकर 3.7 अरब डॉलर रहा

भाषा | नई दिल्ली Apr 02, 2018 02:51 PM IST


निजी इक्विटी निवेश इस साल जनवरी-मार्च तिमाही में 49 प्रतिशत घटकर 3.7 अरब डॉलर रहा। बताया गया कि बड़े सौदे कम होने के कारण यह गिरावट रही। वेंचर इंटेलिजेंस के आंकड़े के अनुसार निजी इक्विटी कंपनियों ने 2018 की पहली तिमाही में 133 सौदों में कुल 3.7 अरब डॉलर का निवेश किया। एक साल पहले इसी अवधि में 200 सौदों में 7.3 अरब डॉलर का निवेश हुआ था। निवेश राशि दिसंबर, 2017 तिमाही से भी 29 प्रतिशत कम है जिसमें 152 सौदों के जरिये 5.2 अरब डॉलर का निवेश हुआ था। इन आंकड़ों में उद्यम पूंजी निवेश शामिल है लेकिन जमीन-जायदाद के विकास के क्षेत्र में निजी इक्विटी (पीई) निवेश शामिल नहीं है।

वेंचर इंटेलिजेंस के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अरुण नटराजन ने कहा, आलोच्य तिमाही में केवल नौ पीईसौदे 10 करोड़ डालर या उससे अधिक मूल्य के थे। वहीं, पिछले साल इसी तिमाही में बड़े सौदों की संख्या 13 सौदे हुए थे। इस तिमाही के दौरान सबसे बड़ा पीई निवेश 1.06 अरब डॉलर का रहा। इसे तरजीही आधार पर एचडीएफसी लि. ने जीआईसी, केकेआर तथा अन्य (कनाडा पेंशन प्लान ओएमईआरएस तथा कारमिगनाक ग्रुप तथा प्रेमजी इनवेस्ट) को आबंटित किए। दूसरा सबसे बड़ा निवेश टीपीजी कैपिटल का 27.5 करोड़ डॉलर का था। कंपनी ने मनिपाल हॉस्पिटल्स तथा फोर्टिस हेल्थकेयर के प्रस्तावित विलय के बाद बनने वाली इकाई में निवेश किया।

कीवर्ड निजी इक्विटी, निवेश, वेंचर इंटेलिजेंस, PE, Investment, Private Equity,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक