होम » Investments
«वापस

प्रतिफल के मामले में टीसीएस प्रतिस्पद्र्धियों से अब भी पीछे

पुनीत वाधवा |  Apr 29, 2018 10:06 PM IST

टाटा कंसल्टैंसी सर्विसेस (टीसीएस) का शेयर गत सोमवार को नैशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) पर कारोबार के दौरान 3,557 रुपये के अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। इससे कंपनी का बाजार पूंजीकरण 100 अरब डॉलर के पार पहुंच गया। ऐसा पहली बार है जब किसी भारतीय सूचना-प्रौद्योगिकी (आईटी) कंपनी का बाजार पूंजीकरण 100 अरब डॉलर का आंकड़ा पार कर गया है। 

 
हालांकि टीसीएस बाजार पूंजीकरण के आधार पर सबसे मूल्यवान भारतीय आईटी कंपनी जरूर बन गई है, लेकिन पिछले दशक में पूर्ण प्रतिफल के लिहाज से यह अपनी अपनी प्रतिस्पद्र्धी आईटी कंपनियों से पीछे चल रही है। एसीई इक्विटी डेटा के अनुसार 23 अप्रैल, 2008 के बाद से इसमें 700 प्रतिशत की तेजी आई है, लेकिन इसके मुकाबले माइंडट्री और एचसीएल टेक्नोलॉजी (एचसीएल टेक) में 10 साल की अवधि के दौरान क्रमश: 739 प्रतिशत और 710 प्रतिशत तेजी आई है। हालांकि टीसीएस बेंचमार्क सूचकांकों निफ्टी 50 और निफ्टी आईटी को पीछे छोडऩे में सफल रही है। इन दोनों सूचकांकों में क्रमश: लगभग 110 और 240 प्रतिशत तेजी आई है। 
 
एसीई इक्विटी के आंकड़ों के अनुसार 25 अगस्त 2004 को सूचीबद्ध होने के बाद शेयर में 1,300 प्रतिशत (समायोजित आंकड़ा) तेजी आई है। आंकड़ों के अनुसार टाटा समूह की एक दूसरी कंपनी टाटा एलेक्सी इस अवधि के दौरान एक दशक में 1,100 प्रतिशत प्रतिफल के साथ इस सूची में पहले स्थान पर है।  कंपनी प्रसारण, संचार एवं ऑटोमोटिव आदि क्षेत्रों में इंजीनियरिंग उत्पादों एवं सॉल्युशंस के लिए डिजाइन एवं तकनीकी सेवाएं मुहैया कराने वाली विश्व की अग्रणी कंपनी है। 
 
डेटा
 
टाटा एलेक्सी तेजी से उभरने वाली तकनीकों जैसे आईओटी (इंटरनेट ऑफ थिंग्स), बिग डेटा एनालिटिक्स, क्लाउड, मोबिलिटी, वर्चुअल रियल्टी और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के लिए तकनीकी सलाह, नए उत्पाद डिजाइन, विकास, टेस्टिंग सर्विसेस सॉल्यूशंस एवं सर्विसेस मुहैया कराती है।
 
विश्लेषकों का नजरिया
 
पिछले दो कारोबारी सत्रों में टीसीएस में आई करीब 9 प्रतिशत तेजी का कारण मार्च 2018 तिमाही में कंपनी का प्रभावशाली प्रदर्शन रहा है। इससे टाटा समूह की यह कंपनी अब रिलायंस इंडस्ट्रीज, मारुति सुजूकी, इन्फोसिस और आईटीसी और हिंदुस्तान यूनिलीवर (एचयूएल) जैसी दिग्गज कंपनियों की सूची में शुमार हो गई है। मजबूत प्रदर्शन के मद्देनजर ज्यादातर विश्लेषक शेयर को लेकर उत्साहित हैं, लेकिन उनका मानना है कि मौजूदा स्तर पर शेयर की कीमत सभी सकारात्मक बातें परिलक्षित कर रही है। 
 
मेबैंक किमइंग सिक्योरिटीज के विश्लेषक नीरव दलाल कहते हैं, 'वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में सुधार दिखने के बाद टीसीएस ने राजस्व के लिहाज से अच्छा प्रदर्शन किया है। हालांकि मुझे लगता है कि सभी सकारात्मक बातों का असर कीमतों में दिख रहा है। हमने वित्त वर्ष 2019-21ई में अमेरिकी डॉलर में राजस्व में10.1 प्रतिशत वृद्धि के मद्देनजर टारगेट मल्टीपल 17 गुना से बढ़ाकर 19 गुना कर दिया है। यह पांच साल के औसत के अनुरूप है। हमारी नजर में यह पी/ई मल्टीपल निर्धारित करने का सबसे महत्त्वपूर्ण आधार है। शेयर में निवेश बनाए रखें।' 
 
नोमूरा के आश्विन मेहता और ऋषित पारेख ने भी 2,750 रुपये लक्ष्य मूल्य के साथ शेयर को लेकर सतर्क रवैया अपनाया है। उन्होंने अपनी टिप्पणी में कहा, 'हमने निवेश घटाने संबंधी सुझाव बरकरार रखा है, क्योंकि हमें वित्त वर्ष 2020एफ के करीब 20 गुना पर मूल्यांकन महंगा दिख रहा है। इसके साथ ही डबल डिजिटल कॉन्स्टैंट करेंसी (सीसी) राजस्व वृद्धि की बाजार की उम्मीद जोखिम मुक्त नहीं है।'
कीवर्ड TCS, IT, share, market, sensex, बीएसई, कंपनी, शेयर,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक