हर साल 1,000 करोड़ रु. निवेश करेगी एमआरएफ

टी ई नरसिम्हन | चेन्नई Aug 29, 2017 09:40 PM IST

टायर बनाने वाली कंपनी एमआरएफ की योजना 2020-21 तक अपना कारोबार बढ़ाकर करीब 20,000 करोड़ रुपये से 22,000 करोड़ रुपये तक पहुंचाने की योजना है। इस लक्ष्य के लिए कंपनी की योजना उत्पाद व क्षमता विस्तार पर हर साल करीब 800-1,000 करोड़ रुपये के निवेश की है। कंपनी का 4,000 करोड़ रुपये वाला गुजरात संयंत्र 2020 तक चालू होने की संभावना है।
 
परफिंजा रेंज के लक्जरी व प्रीमियम रेंज के टायर पेश करने के बाद एमआरएफ लिमिटेड के वाइस चेयरमैन व प्रबंध निदेशक अरुण मैमन ने कहा कि कंपनी हर साल करीब 800-1,000 करोड़ रुपये निवेश कर रही है और यह जारी रहेगा। कंपनी के कार्यकारी उपाध्यक्ष (विपणन) के के वर्गीज ने कहा, यह निवेश मौजूदा संयंत्रों के विस्तार, स्वचालन, शोध व विकास आदि पर होगा। उन्होंंने कहा, स्थायी पूंजीगत खर्च के अलावा कंपनी की योजना गुजरात संयंत्र के पहले चरण पर करीब 2,000 करोड़ रुपये के निवेश की है, जहां 2020 में उत्पादन शुरू होने की संभावना है। इस संयंत्र में एमआरएफ ने करीब 4,000 करोड़ रुपये के निवेश की प्रतिबद्धता जताई है। नए संयंत्र में टायरों की पूरी रेंज का उत्पादन होगा। कंपनी के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक के एम मैमन ने कहा, यह संयंत्र हमारे सबसे बड़े संयंत्रों में से एक होगा। कंपनी अभी हर महीने अपने नौ संयंत्रों में करीब 8-9 लाख टायरों का उत्पादन करती है। इन संयंत्रों से सात दक्षिण भारत और एक गोवा में है। मैमन ने कहा, इसके जरिए साल 2020-21 तक करीब 20,000-22,000 करोड़ रुपये का राजस्व लक्ष्य हासिल करने को सहारा मिलेगा। पिछले वित्त वर्ष में एमआरएफ की कुल आय 15,078.01 करोड़ रुपये रही। 
कीवर्ड MRF, tyre,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक