दीवाली से पहले रोशन बाजार

पवन बुरुगुला | मुंबई Oct 16, 2017 10:03 PM IST

शेयर बाजार के लिए दीवाली के सप्ताह की शुरुआत शानदार रही और बेंचमार्क सेंसेक्स और निफ्टी दोनों सूचकांक आज नई रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गए। वैश्विक बाजारों से सकारात्मक संकेत और विदेशी निवेशकों की ओर से बिकवाली कम होने से बेंचमार्क सूचकांक 0.6 फीसदी बढ़त के साथ बंद हुआ, वहीं डॉलर के मुकाबले रुपये में भी 0.3 फीसदी की मजबूती आई। बंबई स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स 201 अंक चढ़कर सर्वकालिक उच्च स्तर 32,634 पर बंद हुआ। इसी तरह नैशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी  63.4 अंक चढ़कर 10,231 पर बंद हुआ। डॉलर के मुकाबले रुपया तीन हफ्ते के उच्च स्तर 64.72 पर बंद हुआ। शुक्रवार को रुपया 64.92 पर बंद हुआ था।

स्टॉक एक्सचेंज के आंकड़ों के मुताबिक विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने महज 30 करोड़ रुपये के शेयरों की बिकवाली की जबकि घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 273 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे। विश्लेषकों ने कहा कि वैश्विक बाजार और अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत से बाजार में तेजी आई है। अर्थव्यवस्था में नरमी की चिंता के बीच सितंबर में भारतीय शेयर बाजार अपने उच्च स्तर से करीब 4 फीसदी तक गिर गया था। लेकिन पिछले हफ्ते जारी महंगाई और औद्योगिक उत्पादन के बेहतर आंकड़ों से बाजार को बल मिला है।

मोतीलाल ओसवाल फाइनैंशियल सर्विसेज के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक मोतीलाल ओसवाल ने कहा, 'भारतीय बाजार में फिलहाल आशावादी रुख है। अल्पावधि में बाजार में उतार-चढ़ाव रह सकते हैं लेकिन दीर्घावधि का परिदृश्य मजबूत दिख रहा है। मुझे नहीं लगता कि आर्थिक नरमी जैसी मौजूदा चिंता का बाजार पर ज्यादा असर पड़ेगा। विदेशी निवेशकों की बिकवाली भी बड़ी समस्या नहीं है क्योंकि घरेलू संस्थागत निवेशकों से इसकी भरपाई हो जा रही है।' बाजार के भागीदारों का कहना है कि ज्यादा मूल्यांकन होने के बावजूद म्युचुअल फंडों की लिवाली से घरेलू बाजार में मजबूती दिख रही है। अगस्त से अब तक म्युचुअल फंडों ने 50,000 करोड़ रुपये से अधिक की लिवाली की है जबकि विदेशी निवेशकों ने 20,000 करोड़ रुपये की बिकवाली की है।

आज की तेजी में भारती एयरटेल को सबसे ज्यादा फायदा हुआ। भारती एयरटेल का शेयर करीब 5 फीसदी बढ़त पर बंद हुआ। टाटा कम्युनिकेशंस के विलय की खबर के बाद से भारती एयरटेल के शेयरों में तेजी का रुख बना हुआ है। त्योहारी मौसम में वाहनों की बिक्री बढऩे की उम्मीद में वाहन कंपनियों के शेयरों में तेजी दर्ज की गई।  विश्लेषकों का कहना है कि कंपनियों की आय में नरमी ही बाजार के लिए एकमात्र चिंता का कारण है। उनका कहना है कि वस्तु एवं सेवा कर की वजह से सितंबर तिमाही में कंपनियों की आय एक अंक में बढ़ सकती है। हालांकि अगली तिमाही में कंपनियों की आय में तेजी आने की उम्मीद है। इक्विनॉमिक्स रिसर्च ऐंड एडवाइजरी के संस्थापक जी चोकालिंगम ने कहा, 'सितंबर तिमाही के नतीजे जीएसटी के प्रभाव के बारे में स्पष्टï तस्वीर पेश कर सकते हैं। अगर बाजार का मूल्यांकन मौजूदा स्तर पर बनाए रखना है तो कंपनियों की आय में सुधार जरूरी है।'
कीवर्ड diwali, share, market, sensex, बीएसई, कंपनी, शेयर,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक