विलय-अधिग्रहण, पीई सौदों में तेजी

टीई नरसिम्हन | चेन्नई Oct 20, 2017 09:37 PM IST

भारतीय उद्योग जगत ने 2017 में अब तक 47.8 अरब डॉलर के सौदे (विलय एवं अधिग्रहण और निजी इक्विटी निवेश) पूरे किए जो पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 34 फीसदी अधिक है। मूल्य के लिहाज से इस साल पिछले छह साल में सबसे अधिक सौदे हुए जिसे मुख्य तौर पर भारी-भरकम सौदों से बल मिला। हालांकि सौदा मूल्य में उल्लेखनीय वृद्धि के बावजूद सौदों की संख्या में गिरावट दर्ज की गई। ग्रांट थॉर्टन इंडिया एलएलपी के अनुसार, भारतीय उद्योग जगत द्वारा इस साल अब तक किए गए सौदों की संख्या घटकर 882 रह गई जो पिछले साल की समान अवधिम में 1,142 रही थी। 

 
ग्रांट थॉर्टन एलएलपी के पार्टनर प्रशांत मेहरा ने कहा कि निजी इक्विटी (पीई) निवेशकों के बीच संभावित निवेश कंपनियों पर वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के प्रभाव के बारे में अनिश्चितता के बावजूद लेनदेन संबंधी गतिविधियों में जबरदस्त लचीलापन दिखा। उन्होंने कहा कि पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले इस साल अब तक लेनदेन गतिविधियों में 74 फीसदी वृद्धि दर्ज की गई। पिछली तिमाही के मुकाबले इस तिमाही के दौरान कुल सौदा मूल्य में 36 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई जबकि सौदों की संख्या में 29 फीसदी की गिरावट रही। सौदा मूल्य में वृद्धि की मुख्य वजह भारी-भड़कम पीई निवेश रहे। साल 2017 के दौरान अब तक 10 करोड़ डॉलर मूल्य के 32 सौदे हुए जो कुल पीई निवेश मूल्य का करीब 70 फीसदी है।
 
अगस्त 2017 के मुकाबले सितंबर 2017 में लेनदेन गतिविधियों में उल्लेखनीय गिरावट दर्ज की गई। इस दौरान सौदा मूल्य में करीब 4 गुना गिरावट दर्ज की गई और इसकी मुख्य वजह अरब डॉलर वाले सौदों का अभाव रहा। जबकि इस दौरान सौदों की संख्या लगभग स्थिर रही। इस साल अब तक हुए विलय एवं अधिग्रहण और निजी इक्विटी निवेश सौदों में ई-कॉमर्स और रियल एस्टेट क्षेत्र का वर्चस्व रहा। इन दोनों क्षेत्रों में अरब डॉलर के सौदे हुए। यही कारण है कि अब तक हुए कुल सौदों में ई-कॉमर्स क्षेत्र का योगदान 23 फीसदी और रियल एस्टेट क्षेत्र का योगदान 17 फीसदी रहा। दूसरी ओर, स्टार्टअप क्षेत्र से निजी इक्विटी निवेश सौदों की संख्या को रफ्तार मिली। स्टार्टअप क्षेत्र में इस साल अब तक कुल करीब 2 अरब डॉलर मूल्य के 330 से अधिक सौदे हुए जो निजी इक्विटी सौदों की कुल संख्या का करीब 60 फीसदी है। मेहरा ने कहा कि निजी इक्विटी निवेश का अब तक का सर्वाधिक 15 अरब डॉलर के सौदे हुए। हालांकि मूल्य के लिहाज से आंकड़ा जबरदस्त रहा लेकिन पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले सौदों की संख्या मेंं करीब 24 फीसदी की गिरावट देखी गई।
कीवर्ड share, market, sensex, बीएसई, कंपनी, शेयर,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक