न्यू इंडिया ने बढ़ाया हेल्थ प्रीमियम

बीएस संवाददाता | कोलकाता Oct 30, 2017 10:02 PM IST

नवंबर के पहले हफ्ते में पेश होने वाले आरंभिक सार्वजनिक निर्गम से पहले सरकारी बीमा कंपनी न्यू इंडिया एश्योरेंस ने अपने हेल्थ पोर्टफोलियो को व्यावहारिक बनाने के लिए कदम उठाए हैं, जिसमें कम प्रीमियम के चलते तीव्र बढ़ोतरी देखने को मिल रही थी। पिछले साल कंपनी ने करीब 3,500 करोड़ रुपये का अंडरराइटिंग नुकसान दर्ज किया था। भारी-भरकम अंडरराइटिंग नुकसान को देखते हुए सरकार ने सलाह दी थी कि वह इसमें कमी लाने के लिए कदम उठाए। यह जानकारी कंपनी के महाप्रबंधक और वित्तीय सलाहकार सी नरमबुनाथन ने आज कोलकाता में मर्चेंट चैंबर ऑफ कॉमर्स में दी। 
 
इसके तहत कंपनी ने हेल्थ व मोटर के क्षेत्र में कीमतें बढ़ा दी है। खुदरा हेल्थ पोर्टफोलियो में कीमतें 25 फीसदी बढ़ाई गई है। उन्होंने कहा, कीमतों में ज्यादातर बढ़त खुदरा हेल्थ के क्षेत्र में की गई है और वह भी युवा लोगों के लिए। हम ज्यादा उम्र के लोगों के लिए कीमत नहीं बढ़ाना चाहते। ग्रुप इंश्योरेंस की कीमतें हमने पिछले साल बढ़ा दी थी। स्वास्थ्य बीमा में न्यू इंडिया एश्योरेंस बाजार में अग्रणी है और इसकी बाजार हिस्सेदारी करीब 18.4 फीसदी है। पिछले साल कंपनी की कुल प्रीमियम आय करीब 19,000 करोड़ रुपये रही थी, जिसमें मोटर बीमा की हिस्सेदारी सबसे ज्यादा करीब 39 फीसदी रही थी। इसके बाद स्वास्थ्य बीमा का स्थान था।
 
 
कीवर्ड insurance, बीमा पॉलिसी,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक