ब्रांडेड अपैरल व इंजीनियरिंग कारोबार अलग करेगी अरविंद

बीएस संवाददाता | मुंबई Nov 08, 2017 09:55 PM IST

कपड़ा व परिधान कंपनी अरविंद ने आज कहा कि वह ब्रांडेडे अपैरल व इंजीनियरिंग कारोबार को मूल कंपनी से अलग करेगी और उन्हें एक्सचेंजों पर अलग से सूचीबद्ध कराएगी। ब्रांडेड अपैरल कारोबार को अरविंद फैशंस के नाम से अलग किया जाएगा। कंपनी के पास यूएस पोलो, ऐरो, फ्लाइंग मशीन, टॉमी हिलफिगर, जीएपी आदि ब्रांड हैं। अरविंद ने कहा कि इसके शेयरधारकों को हर पांच शेयर पर अरविंद फैशंस का एक शेयर मिलेगा। अरविंद फैशंस का राजस्व 2,900 करोड़ रुपये है और यह 25 फीसदी की रफ्तार से बढ़ रहा है। अरविंद फैशंस का इरादा साल 2022 तक 9,000 करोड़ रुपये का राजस्व हासिल करने का है। यह जानकारी अरविंद के कार्यकारी निदेशक कुलिन लालभाई ने दी।
 
अरविंद इसके अलावा अपना इंजीनियरिंग कारोबार भी अलग करेगी और इसका नाम अनूप इंजीनियरिंग होगा। अरविंद के शेयरधारकों को हर 27 इक्विटी शेयर पर अनूप का एक शेयर मिलेगा। अरविंद के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक संजय लालभाई ने कहा, कारोबार अलग ककरने से हमारे संसाधन मुक्त होंगे और हम कपड़ा कारोबार पर बेहतर तरीके से ध्यान दे पाएंगे। अगले तीन से चार साल में हम 1,500 करोड़ रुपये निवेश करेंगे और वर्टिकल इंटीग्रेशन, अगली पीढ़ी के उत्पाद आदि में कायापलट करेंगे। अरविंद का शेयर आज 9.11 फीसदी टूटकर 413.50 रुपये प्रति शेयर पर बंद हुआ।
 
अरविंद को 64 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ 
 
कपड़ा और परिधान कंपनी अरविंद लि. का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में 64.50 करोड़ रुपये रहा। अरविंद लि. ने कहा कि कंपनी को इससे पूर्व वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 76.65 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था।  कंपनी ने कहा कि एक अप्रैल 2017 से उसने टामी हिलफिगर अरविंद फैशन और केलविन क्लेन अरविंद फैशन को सहायक बनाया है और इसीलिए दूसरी तिमाही के नतीजे तुलनीय नहीं है। आलोच्य तिमाही में कंपनी की कुल आय 2,654.03 करोड़ रुपये रही, जो इससे पूर्व वित्त वर्ष 2016-17 की इसी तिमाही में 2,353.22 करोड़ रुपये रही थी।
 
भारत फोर्ज का शुद्ध लाभ बढ़ा 
 
वाहनों के कलपुर्जे बनाने वाली प्रमुख कंपनी भारत फोर्ज का एकल आधार पर शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में 60.54 फीसदी उछलकर 203.72 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। कंपनी ने कहा कि इससे पूर्व वित्त वर्ष 2016-17 की इसी तिमाही में कंपनी का शुद्ध लाभ 126.89 करोड़ रुपये रहा था। आलोच्य तिमाही के दौरान कंपनी की कुल आय 1,294.63 करोड़ रुपये रही, जो इससे पूर्व वित्त वर्ष 2016-17 की इसी तिमाही में 966.82 करोड़ रुपये रही थी। कंपनी ने कहा कि एक जुलाई से लागू जीएसटी के कारण आलोच्य अवधि की आय तुलनीय नहीं है। भारत फोर्ज के निदेशक मंडल ने हर शेयर पर दो रुपये का लाभांश देने की घोषणा की है। इसका भुगतान 30 नवंबर से पहले किया जाएगा।
 
अशोक लीलैंड का लाभ 334 करोड़ रु. 
 
हिंदुजा ग्रुप की प्रमुख कंपनी अशोक लैलेंड को सितंबर तिमाही में 334.25 करोड़ रुपये का एकल शुद्ध लाभ हुआ। कंपनी ने कहा है कि बेहतर आय व निर्यात में वृद्धि के चलते आलोच्य तिमाही में उसने यह मुनाफा कमाया। इसके अनुसार कंपनी ने पिछले साल समान अवधि में 294.41 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। कंपनी का कहना है कि हिंदुजा फाउंड्रीज लिमिटेड का एक अक्टूबर 2016 को उसके साथ विलय हुआ था, इसलिए वित्तीय परिणामों में तुलना नहीं की जा सकती। आलोच्य तिमाही में उसकी कुल आय 6,102.55 करोड़ रुपये रही। 
 
यूबी का शुद्ध लाभ तीन गुना बढ़ा 
 
यूनाइटेड ब्रुअरीज लिमिटेड (यूबीएल) का एकल शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में तीन गुना बढ़कर 93.84 करोड़ रुपये रहा है। इससे पिछले वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में यह आंकड़ा 27.05 करोड़ रुपये था। कंपनी ने बताया कि समीक्षावधि में उसकी कुल आय 2738.04 करोड़ रुपये रही। पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में यह आय 2199.49 करोड़ रुपये रही थी। कंपनी ने कहा कि इस दौरान उसकी मात्रा में 11 फीसदी का इजाफा हुआ है जबकि पहले पूरे उद्योग की मात्रा में 5 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। यूबीएल ने कहा, सकल आय में 24 फीसदी वृद्धि हुई है जबकि शुल्क का भुगतान करने के बाद आय में 23 फीसदी वृद्धि हुई है। यह वृद्धि कीमतों में बढ़ोत्तरी, सकारात्मक राज्य और ब्रांड मिक्स के साथ बीयर के निर्यात के चलते हुआ है। कंपनी का परिचालन लाभ 72 फीसदी बढ़ा है। कंपनी का कुल व्यय 2593.89 करोड़ रुपये रहा है, जो पिछले साल की जुलाई-सितंबर अवधि में 2162.65 करोड़ रुपये रहा था। 
कीवर्ड textiles, arvind,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक