देश में निवेशकों के नए वर्ग का होगा आगमन

अनूप रॉय | कोलकाता Nov 17, 2017 09:55 PM IST

मूडीज के कदम से देश में निवेशकों के नए वर्ग का आगमन होगा, जो अभी तक किसी खास सीमा से कम रेटिंग वाले देशों में निवेश न करने के उनकी अनिवार्यता तक सीमित था और इससे रुपया स्वाभाविक तौर पर मजबूत होगा पर यह शायद केंद्रीय बैंक के लिए वांछनीय नहीं होगा। देश की प्रतिस्पर्धी क्षमता बनाए रखने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक अभी शायद देखना चाहेगा कि निर्यात प्रतिस्पर्धियों के मुकाबले रुपया थोड़ा कमजोर रहे और इसका मतलब केंद्रीय बैंक की तरफ से मुद्रा बाजार में सक्रिय हस्तक्षेप। यह खुलासा बिजनेस स्टैंडर्ड की तरफ से 10 वरिष्ठ ट्रेजरी प्रमुखों व अर्थशास्त्रियों की बीच की गई रायशुमारी में हुआ है।

 
उनका कहना है कि विदेशी मुद्रा भंडार हाल में 400 अरब डॉलर के पार निकल गया था, लेकिन इसके बाद इसमें कमी आई है, पर हस्तक्षेप के चलते इसमें मजबूती आ सकती है। हालांकि अल्पावधि के लिहाज से रुपया मबूत बना रहेगा। अंतत: रुपये की किस्मत इस निर्भर करेगी कि वैश्विक स्तर डॉलर की स्थिति कैसी रहती है। प्रमुख वैश्विक मुद्राओं के खिलाफ डॉलर की माप करने वाला डॉलर इंडेक्स पिछले एक साल में तेजी से फिसला है और जनवरी के 102.5 के स्तर से फिसलकर अब 93.7 रह गया है। इसके चलते उभरते देशों की मुद्राएं मजबूत हुई है और इस समूह की अगुआई रुपये ने की है। केंद्रीय बैंक के लिए यह स्थिति सहज नहीं है, जब व्यापार घाटा बढ़ रहा हो।
 
कारोबारी सत्र के दौरान रुपये की चाल से इसकी कुछ वजह सामने आई। मूडीज की खबर के बाद विदेशी बाजार में रुपया हरकत में आ गया और 64.78 प्रति डॉलर तक चला गया। देसी बाजार में रुपया 64.75 पर खुला और आरबीआई के हस्तक्षेप के बाद 65.01 पर बंद होने से पहले 64.63 तक मजबूत हुआ। गुरुवार को रुपया 65.32 पर बंद हुआ था। इस साल अब तक डॉलर के मुकाबले रुपया 4.47 फीसदी मजबूत हुआ है।
 
बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच के ट्रेजरी प्रमुख जयेश मेहता ने कहा, रेटिंग के उन्नयन से निवेशकों का नया वर्ग आएगा, जो अब तक आंतरिक रेटिंग की सीमा तक सीमित था। इससे देश के पोर्टफोलियो फंड में सुधार होगा और तकनीकी तौर पर रुपये को आगे बढ़ाएगा। हालांकि विनिमय दर डॉलर की वैश्विक ताकत से तय होती है और ठीक-ठाक प्रवाह के बावजूद यह रुपये पर दबाव बनाएगा। मेहता के मुताबिक, रेटिंग के बाद डॉलर के मुकाबले रुपया 64.50-65.50 तक मजबूत हो सकता है।
कीवर्ड moodys, dollar,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक