जूमकार के बेड़े में आधी होंगी इलेक्ट्रिक कार

बीएस संवाददाता | हैदराबाद Nov 23, 2017 09:59 PM IST

शेयर्ड व इलेक्ट्रिक परिवहन में नया ट्रेंड स्थापित करते हुए कार रेंटल कंपनी जूमकार ने गुरुवार को कहा कि अगले दो सालों में इसके बेड़े में इलेक्ट्रिक वाहनों की हिस्सेदारी 50 फीसदी होगी। यह काफी बड़ी संख्या है क्योंकि इस कंपनी के प्रवर्तकों ने अगले दो साल में 25,000 कारों का बेड़ा बनाने की योजना बनाई है जबकि अभी कंपनी की तरफ से देश के 27 शहरों में 3,000 कारों का परिचालन हो रहा है।
 
कंपनी के सहसंस्थापक और सीईओ ग्रेग मोरन ने कहा, शहर के भीतर सुविधाजनक वाहन चलाने के लिहाज से किसी इलेक्ट्रिक कार में सभी गुण हैं। अगले दो सालों में बैटरी की क्षमता एक बार चार्ज करने पर 300-400 किलोमीटर के परिचालन की होने वाली है। इलेक्ट्रिक वाहन चलाने में आसान होता है, लिहाजा खास तौर से महिलाएं आगामी दिनों में ऐसी कार पसंद कर सकती हैं।
 
कंपनी ने हैदराबाद में गुरुवार को ई-20 प्लस मॉडल के 20 कार अपने बेड़े में जोड़े। पिछले हफ्ते इसने मैसूर में महिंद्रा इलेक्ट्रिक की साझेदारी में इलेक्ट्रिक वाहन पेश किया था। अपनी नीति के तहत जूमकार ने इन इलेक्ट्रिक वाहनों को पट्टे पर लिया है, जिसका वित्त पोषण महिंद्रा फाइनैंस की तरफ से हुआ है। ग्रेग के मुताबिक, सुविधाजनक और प्रदूषण मुक्त सफर के अलावा जूमकार इन वाहनों को 60-70 रुपये प्रति घंटे के न्यूनतम किराये पर दे रही है।
 
जूमकार का मानना है कि वैसे ग्राहकों व कंपनी को किराए पर कार देने के मॉडल का मतलब बनता है, जो कैब सेवा देने वाले प्लेटफॉर्म के लोकप्रिय होने के बावजूद बढ़त की काफी संभावना की पेशकश करता है। कैब सेवा वाले प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कोई ग्राहक एक जगह से दूसरे जगह जाने के लिए करता है और इसका औसत किराया ओला व उबर के लिए 200-300 रुपये होता है।
कीवर्ड zoomcar, electric, car,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक