2जी शेयरों के चक्कर में न पड़ें निवेशक

पुनीत वाधवा |  Dec 21, 2017 10:10 PM IST

सीबीआई अदालत द्वारा 2जी घोटाले से जुड़े सभी आरोपियों को बरी किए जाने के बाद यूनिटेक, रिलायंस कम्युनिकेशंस (आरकॉम), सन टीवी और डीबी रियल्टी जैसी 2जी घोटाला मामले से जुड़ी कंपनियों के शेयरों में 4 से 20 फीसदी की तेजी दर्ज की गई। इन आरोपियों में पूर्व संचार मंत्री ए राजा, द्रविड़ मुनेत्र कझगम (डीएमके) सदस्य कनिमोई और स्वैन टेलीकॉम के शाहिद बलवा, यूनिटेक के संजय चंद्रा और एस्सार गु्रप के रुइया बंधु शामिल हैं। 

 
इनमें से ज्यादातर कंपनियों के शेयर दिन के कारोबार में 20 फीसदी तक चढ़ गए। तुलनात्मक रूप से बीएसई का सेंसेक्स और निफ्टी-50 सूचकांक 33,756 और 10,440 के स्तरों पर मामूली नुकसान के साथ बंद हुए।  अनुकूल निर्णय के बावजूद विश्लेषक सतर्क बने हुए हैं और निवेशकों को मौजूदा तेजी में खरीदारी नहीं करने का सुझाव दे रहे हैं। उनका मानना है कि यह फैसला भविष्य में इन शेयरों की किस्मत बदलने वाली नहीं है।
 
मोतीलाल ओसवाल सिक्योरिटीज में इंस्टीट्ïयूशनल, कॉरपोरेट बुकिंग के लिए उपाध्यक्ष रिकेश पारेख कहते हैं, 'ताजा फैसले से इन शेयरों में तेजी आई है। भविष्य में इन शेयरों के लिए दिक्कत दूर होने की संभावना है। लेकिन निवेशकों को फिलहाल इनसे दूर रहना चाहिए।' हालांकि विश्लेषक सन टीवी पर उत्साहित बने हुए हैं। इसके बारे में उनका मानना है कि इस कंपनी का बुनियादी आधार 2जी घोटाला मामले से जुड़ी अन्य सूचीबद्घ कंपनियों की तुलना में बेहतर और मजबूत है।
 
आईडीबीआई कैपिटल के शोध प्रमुख ए के प्रभाकर कहते हैं, 'सन टीवी दूरसंचार के अलावा अन्य कई व्यवसायों में भी है। इसका प्रमुख सेगमेंट में एबिटा मार्जिन मजबूत रहा है। भले ही इस मामले में विपरीत फैसला आता तो भी इनका व्यवसाय ज्यादा प्रभावित नहीं होता। दूसरी तरफ आरकॉम और यूनिटेक ऐसे उद्योग में परिचालन करती है जो फिलहाल चुनौतीपूर्ण राह से गुजर रहा है। इन शेयरों में तेजी का इस्तेमाल निवेशकों को इनसे निकलने के अवसर के तौर पर करना चाहिए।'
 
इनमें से ज्यादातर शेयर (टाटा टेलीसर्विसेज-महाराष्टï्र शामिल) अगस्त 2007 के बाद से खोई अपनी चमक लौटाने में कामयाब नहीं रहे हैं।  जहां यूनिटेक 1 अगस्त 2007 के 257 रुपये के स्तर से 97 प्रतिशत गिरकर फिलहाल 7 रुपये के स्तर पर रह गया है, वहीं आरकॉम 530 रुपये से गिरकर 17 रुपये पर आ गया है। तुलनात्मक रूप से बीएसई का सेंसेक्स इस अवधि के दौरान लगभग 126 फीसदी बढ़ा है।
 
एल्टामाउंट कैपिटल में इक्विटी एडवाइजरी के सह-प्रमुख कृष सुब्रमण्यन ने कहा, 'सन टीवी अभी भी अच्छा दांव बना हुआ है। मैं 2जी फैसले के बाद भी यूनिटेक में निवेश की सलाह नहीं दूंगा। दूसरी तरफ आरकॉम को परिसंपत्ति बिक्री के दबाव से जूझना पड़ रहा है। इसलिए उस संदर्भ में गिरावट अब सीमित हो सकती है।फिलहाल इन दोनों शेयरों से दूर रहने की सलाह दी जाती है।'
कीवर्ड share, market, 2G scam, a raja, kanimoi, CBI, court, BJP, congress, DMK, ED, telecom, spectrum,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक