'भारत का विज्ञापन खर्च इस साल 12.5 फीसदी बढ़ेगा'

विवेट सुजन पिंटो | मुंबई Jan 12, 2018 10:12 PM IST

देश की प्रमुख मीडिया एजेंसियों में से एक देंतसू एजिज नेटवर्क ने 2018 के लिए विज्ञापन खर्च से संबंधित अपना ताजा अनुमान शुक्रवार को जारी किया। इस अनुमान में कहा गया है कि विज्ञापन खर्च इस सााल 12.5 फीसदी बढ़ेगा जो 2017 में दर्ज की गई 9.6 फीसदी की वृद्घि की तुलना में अधिक है। 2018 के लिए इस एजेंसी के शुरुआती अनुमान की तुलना में मौजूदा आंकड़ा मजबूत है। शुरुआती अनुमान में एजेंसी ने कहा था कि विज्ञापन खर्च चालू वर्ष में 12.2 फीसदी बढ़ेगा। यह अनुमान ऐसे समय में आया है जब गु्रपएम और मैगना जैसे प्रतिस्पर्धियों ने 2018 में भारतीय विज्ञापन खर्च में सुधार का अनुमान जताया है। दुनिया के सबसे बड़े मीडिया एजेंसी नेटवर्क गु्रपएम ने पिछले एक अनुमान में कहा था कि भारत वर्ष 2018 में विज्ञापन खर्च में वृद्घि वाले शीर्ष 6 देशों में शुमार होगा, जबकि आईपीजी मीडियाब्रांड्ïस की मीडिया इंटेलीजेंस इकाई ने मैगना ने इस साल भारत के लिए इस खर्च में वृद्घि 12.2 फीसदी रहने की भविष्यवाणी की। मैगना ने यह भी कहा था कि भारत का विज्ञापन बाजार वर्ष 2022 तक 1 लाख करोड़ रुपये का होगा। इसमें अगले पांच वर्षों के दौरान 12.2 फीसदी की निरंतर वृद्घि दर से मजबूती आएगी।
 
देंतसू के अनुसार उसके ताजा अनुमान में तेजी इसे ध्यान में रखते हुए की गई है कि भारतीय अर्थव्यवस्था जुलाई, 2017 में जीएसटी  की पेशकश के बाद मजबूत हुई है। वहीं अकेले मोबाइल खर्च में 43.6 फीसदी की वृद्घि के साथ डिजिटल मीडिया खर्च इस साल 30 फीसदी बढ़ेगा।  देंतसू एजिज नेटवर्क में मीडिया ब्रांड्ïस ऐंड एम्पलीफाई के अध्यक्ष कार्तिक अय्यर ने कहा कि कुल डिजिटल खर्च में मोबाइल का योगदान 47 फीसदी रहेगा जिससे संकेत मिलता है कि चालू वर्ष में इस श्रेणी में मजबूती आएगी। अय्यर ने यह भी कहा कि भारतीय विज्ञापन बाजार 2019 में 12.5 फीसदी की वृद्घि दर को बरकरार रखेगा। 
 
कीवर्ड media, add,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक