प्राइसवाटरहाउस पर लगा रहेगा प्रतिबंध

श्रीमी चौधरी | मुंबई Jan 19, 2018 09:45 PM IST

प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (सैट) ने बाजार नियामक सेबी द्वारा प्राइस वाटरहाउस (पीडब्ल्यू) पर लगाए गए दो वर्षीय प्रतिबंध पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने सत्यम कंप्यूटर्स के खातों में धोखाधड़ी के मामले में पीडब्ल्यू पर यह प्रतिबंध लगाया है।  सेबी के आदेशों के खिलाफ सुनवाई करने वाले सैट ने हालांकि कहा है कि ऑडिट फर्म उन मौजूदा ग्राहकों को सेवाएं बरकरार रख सकती है जिनका वित्त वर्ष 1 जनवरी से शुरू होता है। न्यायाधिकरण ने कहा है कि पीडब्ल्यू नेटवर्क को नई जिम्मेदारियां और नए ग्राहक नहीं जोडऩा चाहिए। सैट ने यह भी कहा है कि ऑडिट कंपनी अपने मौजूदा ग्राहकों की सूची ट्रिब्यूनल और सेबी के समक्ष सौंप दें। इस मामले की अगली सुनवाई 13 फरवरी को होनी है। 
 
पीडब्ल्यू 18 जनवरी को सेबी द्वारा दिए गए फैसले के खिलाफ सैट में चली गई और इस मामले की पहली सुनवाई शुक्रवार को हुई। पीडब्ल्यू ने सैट से सेबी के आदेश पर रोक लगाए जाने की मांग की।  सत्यम धोखाधड़ी मामले में पीडब्ल्यू की कथित रूप से संलिप्तता की वजह से सेबी ने 10 जनवरी को आदेश जारी कर पीडब्ल्यू और उसके नेटवर्क से जुड़ी फर्मों पर सूचीबद्घ कंपनियों को ऑडिट सेवाएं मुहैया कराने पर दो वर्ष का प्रतिबंध लगा दिया। पीडब्ल्यू के दो भागीदारों पर तीन वर्ष का प्रतिबंध लगाया गया है।
 
सैट द्वारा हालांकि ऑडिट कंपनी को आंशिक रूप से राहत इस संबंध में दी गई है कि कंपनी अपने मौजूदा ग्राहकों को सेवाएं मुहैया कराना बरकरार रख सकती है। सैट ने कहा है, 'नया आदेश पीडब्ल्यू और उसकी नेटवर्क कंपनियों द्वारा वित्त वर्ष 2017-18 के लिए  लिए गए लेखा कार्यों के लिए लागू  नहीं होगा।' सैट के बयान में कहा गया है कि पीडब्ल्यू द्वारा उन ग्राहकों से लिया गया ऑडिट संबंधी कार्य इस प्रतिबंध के दायरे में नहीं आएगा जिनका वित्त वर्ष 1 जनवरी 2018 से शुरू हुआ है।  न्यायाधिकरण ने यह भी स्पष्टï किया है कि पीडब्ल्यू ऑडिट के अलावा प्रमाणन संबंधी कोई भी कार्य पूरा करने की स्वतंत्रता दी गई है।  बाजार नियामक ने अपने आदेश में पीडब्ल्यू और उसके दो चार्टर्ड अकाउंटेंटों एस गोपालकृष्णन तथा श्रीनिवास तल्लूरी पर 13.09 करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया है। इन तीनों को 7 जनवरी 2009 की शुरुआत से इस रकम पर आदेश के 45 दिन के अंदर 12 प्रति ब्याज भी चुकाना होगा। 
कीवर्ड sebi, भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी),

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक