मित्तल ने बेचा केएसएस का हिस्सा

ईशिता आयान दत्त | कोलकाता Feb 13, 2018 09:39 PM IST

बोली के लिए अपनी पात्रता पर विभिन्न तरह के सवालों पर विराम लगाने के लिए एल एन मित्तल ने कजाकिस्तान की बुनियादी ढांचा सेवा प्रदाता कंपनी काजस्टोरीसर्विसेज (केएसएस) की अपनी व्यक्तिगत हिस्सेदारी (33 फीसदी) बेच दी। केएसएस के पास केएसएस पेट्रोन प्राइवेट लिमिटेड की 100 फीसदी हिस्सेदारी है, जो साल 2015 में गैर-निष्पादित आस्तियां बन गई। इसकी जानकारी रखने वाले सूत्र ने कहा, मित्तल ने पिछले शुक्रवार को अपनी हिस्सेदारी मौजूदा शेयरधारकों को बेच दी। इस सौदे की कीमत का पता नहीं चल पाया है। लेकिन बाजार ने मित्तल की तरफ से इसकी खरीद के समय लेनदेन की कीमत करीब 30 करोड़ डॉलर रहने का अनुमान जताया था।

 
केएसएस की हिस्सेदारी बिक्री सोमवार को मित्तल प्रवर्तित आर्सेलरमित्तल की तरफ से एस्सार स्टील के लिए बोली लगाए जाने से ठीक पहले हुई। भारतीय स्टेट बैंक की अगुआई वाले देसी लेनदारों ने मित्तल से कहा था कि वह केएसएस पेट्रोन प्राइवेट लिमिटेड की तरफ से लिए गए 13.40 अरब रुपये के कर्ज का भुगतान करे, जिस पर इसने पिछले महीने डिफॉल्ट किया था। सूत्रों ने कहा, केएसएस में मित्तल का व्यक्तिगत निवेश था, बावजूद इसके वह नहीं चाहते हैं कि आर्सेलरमित्तल की बोली में यह बाधक बन जाए।
 
एस्सार स्टील की बोली अभी खुलनी बाकी है। सूत्रों ने कहा कि आर्सेलरमित्तल व नुमटेल (एक कंसोर्टियम जिसमें वीटीबी बैंक की बहुलांश हिस्सेदारी है और रुइया की अल्पांश हिस्सेदारी) की बोली बुधवार को खोली जा सकती है। केएसएस में मित्तल की हिस्सेदारी की बिक्री आर्सेलरमित्तल की तरफ से उत्तम गैल्वा की 29 फीसदी हिस्सेदारी बिक्री 7 फरवरी को एक रुपये प्रति शेयर के भाव पर सह-प्रवर्तकों को किए जाने के बाद हुई और इसके परिणामस्वरूप सह-प्रवर्तकों के बीच 2009 में हुआ करार समाप्त हो गया। मित्तल ने उत्तम गैल्वा के शेयर 120 रुपये प्रति शेयर के भाव पर किए थे। यह लेनदेन भी जरूरी था क्योंंकि उत्तम गैल्वा बैंक की डिफॉल्टर है और इसके समाधान के लिए कंपनी को एनसीएलटी भेजा गया है।
 
उत्तम गैल्वा के निदेशक मंडल में हालांकि आर्सेलरमित्तल का कोई प्रतिनिधित्व नहींं था और यह प्रबंधन के फैसले में शामिल नहीं थी, बल्कि यह सह-प्रवर्तक थी। हालांकि यह देखा जाना बाकी है कि लेनदारों की समिति और रिजॉल्यूशन प्रोफेशनल एस्सार स्टील के मामले में आर्सेलरमित्तल की बोली पर क्या रुख अपनाते हैं क्योंकि कुछ लेनदार कह रहे हैं कि वे कंपनी के एनपीए बनने के समय प्रवर्तक की स्थिति पर नजर डालेंगे।
कीवर्ड KSS, share,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक