महंगाई की फिक्र में उछल गया बॉन्ड प्रतिफल

अनूप रॉय | मुंबई Feb 22, 2018 09:49 PM IST

दस वर्षीय बॉन्ड का प्रतिफल मौद्रिक नीति समिति के सदस्यों की तेजतर्रार टिप्पणियों से 10 आधार अंक उछल गया, जो अमेरिकी फेडरल रिजर्व के मिनट्स (बैठक के दस्तावेज) के साथ सामने आए, जो दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में दरों में और बढ़ोतरी पर चेतावनी दे रहा है। मौद्रिक नीति समिति की 5-6 फरवरी को हुई बैठक में सदस्यों ने टिप्पणी की थी और ये मिनट्स बुधवार को सामने आए। 10 वर्षीय बॉन्ड का प्रतिफल गुरुवार को कारोबार के दौरान दो साल की ऊंचाई 7.816 फीसदी को छू गया, जबकि इसका पिछला बंद भाव 7.71 फीसदी रहा है। 10 वर्षीय बॉन्ड का प्रतिफल अंत में हालांकि 7.75 फीसदी पर बंद हुआ।
 
अमेरिकी नीति निर्माता ने जहां महंगाई दर का अनुमान बढ़ाने में सहज रहे, वहींं भारतीय नीति निर्माता खाद्य कीमतों में हुई हालिया बढ़ोतरी को लेकर चिंतित रहे। एचएसबीसी इंडिया के प्रबंध निदेशक मनीष वधावन ने कहा, देसी व वैश्विक कारकों के चलते बॉन्ड का प्रतिफल पिछले कुछ महीने से बढ़ रहा है। देश में उच्च महंगाई, राजकोषीय घाटे में इजाफा और बैंंकिंग सिस्टम में नकदी की सख्त स्थिति बॉन्ड प्रतिफल में इजाफे के लिए जिम्मेदार रहे हैं। मौद्रिक नीति समिति के दस्तावेज भी महंगाई पर चिंता को रेखांकित करते हैं।
 
वधावन ने कहा, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर केंद्रीय बैंकों की तरफ से सहायक कदम की वापसी का डर और तेल व जिंस की उच्च कीमतों ने इस बिकवाली में इजाफा किया है। मिनट्स बताते हैं कि आरबीआई के सदस्य इस बात को मान रहे हैं जिसका अनुमान बॉन्ड बाजारों ने लंबे समय से ब्याज दरों में बढ़ोतरी को लेकर जताया था। 
कीवर्ड share, market, sensex, बीएसई, कंपनी, शेयर,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक