मोबाइल उत्पादन में दूसरे पायदान पर भारत

भाषा |  Apr 01, 2018 09:00 PM IST

चीन के बाद भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल उत्पादक देश बन गया है। इंडियन सेल्युलर एसोसिएशन (आईसीए) द्वारा दूरसंचार मंत्री मनोज सिन्हा और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद के साथ साझा जानकारी के अनुसार भारत ने हैंडसेट उत्पादन के मामले में वियतनाम को पीछे छोड़ दिया है। आईसीए के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज महेंद्रू ने दोनों केंद्रीय मंत्रियों को लिखे पत्र में कहा, हमें आपको सूचित करने में प्रसन्नता हो रही है कि भारत सरकार, आईसीए और एफटीटीएफ के कठोर और समन्वित प्रयासों ने भारत संख्या के लिहाज से दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल उत्पादक देश बन गया है। आईसीए ने बाजार अनुसंधान फर्म आईएचएस, चीन के राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो और वियतनाम के सामान्य सांख्यिकी कार्यालय से उपलब्ध आंकड़ों का हवाला दिया है। आईसीएस द्वारा साझा आंकड़ों के मुताबिक देश में मोबाइल फोन का वार्षिक उत्पादन 2014 में 30 लाख इकाई से बढ़कर 2017 में 1.1 करोड़ इकाई हो गया है। देश में मोबाइल फोन उत्पादन बढऩे के साथ इनका आयात भी 2017-18 में घटकर आधे से कम रह गया है।
 
एयरसेल के बकाए पर बीएसएनएल का पत्र 
 
भारत संचार निगम लिमिटेड ने दूरसंचार कंपनी एयरसेल से अपने बकाया की वसूली के लिए संचार मंत्रालय से संपर्क किया है। एयरसेल ने हाल ही में ऋणशोधन प्रक्रिया के लिए आवेदन किया है। बीएसएनएल ने दूरसंचार विभाग को लिखे पत्र में कहा है कि एयरसेल पर उसका 42 करोड़ रुपये बकाया है।
कीवर्ड india, china, trade, mobile,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक