उतार-चढ़ाव से ब्रोकिंग राजस्व पर पड़ेगी चोट

बीएस संवाददाता | मुंबई Apr 10, 2018 09:54 PM IST

क्रेडिट रेटिंग एजेंसी इक्रा ने कहा है कि बाजार में उतार-चढ़ाव के चलते साल 2018-19 में ब्रोकिंग उद्योग की रफ्तार धीमी रहने की संभावना है। एजेंसी का अनुमान है कि इस उद्योग की आय महज 5 फीसदी बढ़कर 200 अरब रुपये पर पहुंचेगी। बढ़त की रफ्तार में कमी पिछले वित्त वर्ष में मजबूत प्रदर्शन के बाद देखने को मिलेगी। 2017-18 में रोजाना औसत कारोबार इक्विटी में 75 फीसदी बढ़कर 7 लाख करोड़ रुपये पर पहुंचा, जो इससे पूर्व वित्त वर्ष में 4 लाख करोड़ रुपये रहा था। इक्रा ने कहा कि बाजार की गतिविधियों को देसी संस्थागत निवेशकों की तरफ से इक्विटी में मजबूत निवेश से सहारा मिला जबकि विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों की दिलचस्पी घटी। 
कीवर्ड share, market, sensex, बीएसई, कंपनी, शेयर,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक