इन्फोसिस ने की वेतन वृद्धि

एजेंसियां | बेंगलूरु Apr 13, 2018 09:47 PM IST

प्रमुख आईटी सेवा कंपनी इन्फोसिस ने आज कहा है कि उसने अपने ज्यादातर कर्मचारियों के लिए 'मिड टु हाई सिंगल-डिजिट' के दायरे में वेतन वृद्घि की है जो अप्रैल से प्रभावी है। इन्फोसिस के सीओओ प्रवीण राव ने कहा, 'हम अप्रैल से अपने 85 फीसदी कर्मचारियों के लिए वेतन पैकेज में वृद्घि की घोषणा कर बेहद उत्साहित हैं। शेष कर्मचारियों के लिए (मुख्य रूप से मध्यम स्तर के प्रबंधन और वरिष्ठï प्रबंधन) यह वेतन वृद्घि 1 जुलाई से प्रभावी होगी। यह वेतन वृद्घि ऑनसाइट और ऑफशोर दोनों से जुड़े कर्मचारियों के लिए है।' उन्होंने कहा कि पिछले साल की तरह प्रदर्शन और योगदान पर आधारित विशेषताओं पर ज्यादा ध्यान दिया जाएगा। उन्होंने कहा, 'भारत में ज्यादातर कर्मचारियों को मिड-सिंगल से हाई-सिंगल डिजिट में वेतन वृद्घि का लाभ मिलेगा।'

 
इन्फोसिस के कुल कर्मचारियों की संख्या 31 मार्च 2018 के अंत में 2,04,107 थी। जहां सकल वृद्घि 12,329 लोगों की दर्ज की गई है वहीं शुद्घ वृद्घि 2,416 कर्मचारियों की थी। इसके अलावा कंपनी बोर्ड ने स्वतंत्र निदेशक किरण मजूमदार-शॉ को बोर्ड के मुख्य स्वतंत्र निदेशक के तौर पर नियुक्त किया है। राव ने कहा कि मार्च तिमाही के लिए कंपनी में एट्रीशन रेट यानी कर्मचारियों के छोडऩे की दर पूर्ववर्ती तिमाही के 15.8 प्रश्तिात की तुलना में बढ़कर 16.6 प्रतिशत हो गई। उन्होंने कहा, 'हालांकि श्रेष्ठï प्रदर्शन वाले कर्मियों के संदर्भ में यह दर घटकर 9.4 प्रतिशत रह गई।' राव ने व्यवसाय के बारे में बताते हुए कहा कि डिजिटल सेवाओं से राजस्व चौथी तिमाही में बढ़कर 26.8 प्रतिशत हो गया और पूरे वित्त वर्ष के लिए यह 25.5 प्रतिशत पर दर्ज किया गया। उन्होंने कहा, 'मार्च तिमाही के दौरान हमने 90.5 करोड़ डॉलर की कुल अनुबंध वैल्यू (टीसीवी) के 10 बड़े सौदे हासिल किए। इस वर्ष यह सर्वाधिक त्रैमासिक टीसीवी है। वर्ष के लिए हासिल की गई कुल टीसीवी 3 अरब डॉलर को पार कर गई है।' अधिकारी ने बताया कि कंपनी के लिए ऑर्डर प्रवाह की रफ्तार मजबूत बनी हुई है, जबकि उपयोगिता दर (ट्रेनी को छोड़कर) 84.5 फीसदी पर मजबूत रही। 
 
बेहतर आय की उम्मीद से बाजार में तेजी
 
निवेशकों ने आय सीजन के बेहतर रहने की उम्मीद में खरीदारी में दिलचस्पी दिखाई। बाजारों के लिए यह लगातार सातवां कारोबारी सत्र था जिसमें तेजी दर्ज की गई, जो पिछले साल नवंबर के बाद से सबसे लंबे सत्रों की तेजी है। बीएसई 91.52 अंक चढ़कर 34,192.65 पर बंद हुआ जबकि एनएसई का निफ्टी 22 अंक सुधरकर 10,480.60 पर बंद हुआ। ब्रोकरों का कहना है कि गुरुवार के कारोबारी घंटों के बाद घोषित सकारात्मक वृहद आंकड़ों की घोषणा और इन्फोसिस द्वारा अच्छी आय की उम्मीद के साथ साथ अन्य एशियई बाजारों में तेजी की वजह से निवेशक धारणा में मजबूती आई।  इन्फोसिस का शेयर 0.58 फीसदी तक की तेजी के साथ बंद हुआ, क्योंकि निवेशक कंपनी की आय घोषणा से पहले इस शेयर की खरीदारी करते देखे गए।
कीवर्ड infosys, salary, आईटी सेवा प्रदाता इन्फोसिस,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक