एमऐंडएम ने टाटा मोटर्स को पछाड़ा

अजय मोदी | नई दिल्ली Apr 17, 2018 09:47 PM IST

देश की सबसे बड़ी ट्रैक्टर निर्माता महिंद्रा ऐंड महिंद्रा (एमऐंडएम) का शेयर मंगलवार को 819 रुपये की नई ऊंचाई पर पहुंच गया। शेयर में तेजी की मदद से कंपनी का बाजार पूंजीकरण बढ़कर 1 लाख करोड़ रुपये हो गया है। मूल्यांकन के लिहाज से कंपनी ने टाटा मोटर्स को पीछे छोड़ दिया है और अब वह मारुति सुजूकी के बाद देश में दूसरी सर्वाधिक मूल्यवान वाहन निर्माता है। बीएसई के अनुसार एमऐंडएम का शेयर मंगलवार को 1 लाख करोड़ रुपये (1,000 अरब रुपये) के बाजार पूंजीकरण के साथ बंद हुआ, जो टाटा मोटर्स के 972 अरब रुपये के बाजार पूंजीकरण से ज्यादा है। एक समय देश की सबसे ज्यादा मूल्यवान वाहन निर्माता की हैसियत हासिल करने वाली टाटा मोटर्स ने 2015 के मध्य में मारुति सुजूकी के हाथों अपना यह दर्जा गंवा दिया था। टाटा मोटर्स अब मूल्यांकन के संदर्भ में तीसरे पायदान पर है। हालांकि यदि टाटा मोटर्स डीवीआर के 98 अरब रुपये के बाजार पूंजीकरण को शामिल किया जाए तो ट्रक निर्माता अभी भी दूसरे पायदान पर होगी। देश की सबसे बड़ी कार निर्माता मारुति सुजूकी का बाजार पूंजीकरण 2.76 लाख करोड़ रुपये है। यह मूल्यांकन एमऐंडएम और टाटा मोटर्स के संयुक्त बाजार पूंजीकरण से भी ज्यादा है। 
 
ट्रैक्टर खंड के शानदार प्रदर्शन की मजबूती दर्ज करने वाली एमऐंडएम की शेयर कीमत पिछले दो सप्ताह में 8 फीसदी चढ़ी है। कंपनी के शेयर को स्काईमेट द्वारा और सोमवार को भारतीय मौसम विभाग द्वारा भी सामान्य मॉनसून की भविष्यवाणी किए जाने से मदद मिली है। अच्छे मॉनसून की भविष्यवाणी से बेहतर कृषि उपज (खरीफ सीजन में) की संभावना मजबूत हुई है जिससे किसानों समेत ग्रामीण उपभोक्ताओं के हाथ में अधिक पूंजी आ सकती है। इस सकारात्मक घटनाक्रम से ट्रैक्टर बिक्री बढऩे का अनुमान है। 43 प्रतिशत की बाजार भागीदारी के साथ इस सेगमेंट की सबसे बड़ी कंपनी एमऐंडएम को बाजार में संभावित विस्तार का लाभ मिलने की संभावना है। 31 मार्च 2018 को समाप्त वर्ष में कंपनी ने घरेलू बाजार में 304,019 ट्रैक्टर बेचे जो 22 फीसदी की वृद्घि है। देश में पिछले साल भी मॉनसून सामान्य रहा था।
 
इक्विटी शोध फर्म जेफरीज ने पिछले महीने एमऐंडएम के शेयर के लिए कीमत लक्ष्य 820 रुपये से बढ़ाकर 860 रुपये कर दिया था। जेफरीज ने इस शेयर के लिए 'बनाए रखें' को बदलकर अपनी रेटिंग 'खरीदारी' कर दी है। शोध फर्म ने कहा है कि हाल के महीनों में कई सकारात्मक कारकों की वजह से एमऐंडएम में सुधार आया है जिनमें उम्मीद से बेहतर ट्रैक्टर/एलसीवी चक्र, सकारात्मक परिदृश्य और मार्जिन में वृद्घि मुख्य रूप से शामिल हैं।  जेफरीज का कहना है कि एमऐंडएम द्वारा वित्त वर्ष 2018 के ऊंचे आधार की वजह से वित्त वर्ष 2019 में ट्रैक्टर्स और एलसीवी दोनों सेगमेंट में 10 प्रतिशत की वृद्घि दर्ज किए जाने की संभावना है। 
कीवर्ड tata motors, vehicle, car, mahindra,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक