2018 में सूचीबद्घ हुए एक-तिहाई एसएमई शेयरों में गिरावट

ऐश्ली कुटिन्हो | मुंबई Apr 17, 2018 09:48 PM IST

लघु एवं मझोले उद्यमों (एसएमई)की सार्वजनिक शेयर बिक्री को लेकर उत्साह के बावजूद पिछले वित्त वर्ष में सूचीबद्घ हुए 148 एसएमई शेयरों में से एक-तिहाई गिरावट के शिकार हुए हैं। सात शेयर अपनी लगभग 50 प्रतिशत से ज्यादा वैल्यू गंवा चुके हैं। नॉरिट्रांस एक्जिम और अशोक मेटकास्ट के शेयर 75 प्रतिशत और 62 प्रतिशत टूट चुके हैं। गिरावट का शिकार होने वाले 49 शेयरों में से 10 ने अपने आईपीओ के दौरान 10 गुना से अधिक का अभिदान दर्ज किया था। बीएस रिसर्च ब्यूरो के आंकड़ों से पता चलता है कि अकॉर्ड सिनर्जी, झंडेवालाज फूड्ïस और हिंडकॉन केमिकल्स को 100 गुना से ज्यादा अभिदान मिला था, लेकिन ये शेयर अपने निर्गम भाव की तुलना में 21 फीसदी, 18 फीसदी और 5.4 फीसदी नीचे हैं। 
 
18 शेयर पिछले साल मल्टीबैगर्स में तब्दील हुए और उन्होंने 106 फीसदी से 1,693 फीसदी के दायरे में प्रतिफल दिया। मजबूत प्रतिफल की संभावना के बावजूद विश्लेषकोंका का मानना है कि एसएमई शेयरों में निवेशकों की पूंजी को नुकसान पहुंचने की आशंका बनी हुई है। इन कंपनियों का विश्लेषण करना चुनौतीपूर्ण हो सकता है क्योंकि इन पर विश्लेषकों द्वारा नजर नहीं रखी गई है और पब्लिक डोमेन में भी इनके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। इसका मतलब है कि निवेशक इन कंपनियों के बुनियादी आधार के आकलन और उनके प्रवर्तकों की विश्वसनीयता का पता लगाने के संदर्भ में असमर्थ हैं। 
 
पिछला वित्त वर्ष एसएमई के शेयरों की बिक्री के लिए अच्छा वर्ष था, क्योंकि निवेशक इनमें पिछले मजबूत प्रतिफल की वजह से आकर्षित हुए थे। एसएमई प्लेटफॉर्म पर 148 आईपीओ दर्ज किए गए हैं जिनके जरिये 21.55 अरब रुपये जुटाए गए, जो पिछले 6 वर्षों में संयुक्त रूप से जुटाई गई कुल रकम की तुलना में अधिक है। वर्ष 2012 से एसएमई निर्गमों की कुल संख्या 370 हो चुकी है। 
कीवर्ड share, market, sensex, बीएसई, कंपनी, शेयर,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक