रियल एस्टेट कारोबारियों ने किए बिक्री में सुधार के दावे

सुशील मिश्र | मुंबई Apr 17, 2018 09:57 PM IST

मंदी की मार से जूझ रहे रियल एस्टेट क्षेत्र के अच्छे दिन आने के दावे किए जा रहे हैं। रियल एस्टेट से जुड़ी संस्थाओं की रिपोर्ट में यह दिखाने  की पुरजोर कोशिश हो रही है कि मंदी के बुरे दिन अब लद गए हैं। हालांकि, बिक्री में जरूर सुधार दिख रहा है, लेकिन नई परियोजनाओं की शुरुआत में कमी आ रही है। निर्माताओं (डेवलपर) का दावा है कि मौजूदा साल इस क्षेत्र के लिए बदलाव लाएगा, जिससे मांग और कीमतों में सुधार दिखने शुरू हो जाएंगे।  अक्षय तृतीया पर मकान बुक कराने वालों को निर्माता लुभावनी पेशकश कर रहे हैं। इनमें वस्तु एवं सेवा कर में छूट के साथ, कीमतों में 100 से 300 रुपये प्रति वर्गमीटर की कमी, फर्नीचर, स्टांप शुल्क में छूट और पार्किंग की सुविधाएं आदि शामिल हैं। इनके बावजूद ग्राहकों में वह उत्साह नहीं दिख रहा है,जो कुछ साल पहले तक हुआ करता था। हालांकि निर्माता बिक्री में कम से कम 5 प्रतिशत बढ़ोतरी की उम्मीद कर रहे हैं, जबकि दूसरी तरफ रियल एस्टेट क्षेत्र के विशेषज्ञों को फिलहाल सुधार की संभावना नदारद दिख रही है। इस क्षेत्र पर नजर रखने वाले यशवंत दलाल कहते हैं कि इस समय बाजार में नकदी कम है, इसलिए लोग चाहकर भी घर नहीं खरीद पा रहे हैं। उन्होंने कहा, 'लोग मुंबई से बाहर सस्ते घरों की तलाश में जा रहे हैं, इसलिए उन क्षेत्रों में बिक्री जरूर सुधरी है।'
 
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत छोटे घरों की मांग बढ़ी है। हालांकि यह तेजी  इस योजना के तहत ढाई लाख रुपये तक  की छूट के कारण दिख रही है। विशेषज्ञों के अनुसार नई परियोजनाओं में अधिक तादाद इन्हीं घरों की है। हालांकि पिछले कई सालों से ग्राहकों की बेरुखी से परेशान विनिर्माताओं को इस साल बिक्री में सुधार की उम्मीद है। आंकड़ों पर नजर डालें तो निर्माण में कमी दर्ज की गई है, लेकिन बिक्री में सुधार दिखा है।
कीवर्ड real estate, property,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक