वाणिज्यिक परियोजनाओं का रुख कर सकते हैं डेवलपर

राघवेंद्र कामत | मुंबई Apr 29, 2018 10:00 PM IST

मुंबई के प्रॉपर्टी डेवलपर अपनी प्रीमियम और लग्जरी आवासीय परियोजनाओं की योजना को वाणिज्यिक परियोजना में बदल सकते हैं। सलाहकारों व डेवलपरों के मुताबिक  इसकी वजह है कि वाणिज्यिक परियोजनाओं को शहर की नई विकास योजना में ज्यादा फ्लोर स्पेस इंडेक्स (एफएसआई) दिया गया है और आवासीय बाजारों में ऊहापोह की स्थिति है।  एफएसआई वह क्षेत्र होता है, जितना किसी जमीन के हिस्से पर निर्माण की अनुमति होती है। द्वीपीय शहर मुंबई की नई विकास योजना में एफएसआई 1.33 से बढ़ाकर आवासीय व वाणिज्यिक संपत्तियों के लिए क्रमश: 2 और 5 कर दी गई है।  
 
उपनगरीय इलाकों में एफएसआई आवासीय संपत्तियों के लिए 2 से बढ़ाकर 2.5 और वाणिज्यिक संपत्तियों के लिए 2.5 से बढ़ाकर 5 कर दी गई है।  कोलियर्स इंटरनैशनल इंडिया मेंं कार्यकारी निदेशक, मुंबई और डेवलपर सेवा रवि आहूजा ने कहा, ' मैं उम्मीद करता हूं कि वाणिज्यिक क्षेत्र में एफएसआई बढ़ाए जाने से मौजूदा प्रीमियम और लग्जरी आवासीय योजनाओंं के डेवलपर उन परियोजनाओं को वाणिज्यिक परियोजना में बदलने के लिए प्रोत्साहित होंगे। खासकर प्रीमियम और लग्जरी आवासीय क्षेत्र मेंं बिक्री में स्थिरता होने की वजह से इसकी संभावना ज्यादा है। साथ ही आवासीय परियोजनाओं को लेकर अनुपालन संबंधी जटिलताएं बढ़ी हैं।' 
 
प्रॉपइक्विटी की रिपोर्ट के मुताबिक आवासीय इकाइयोंं की खपत इस साल पहली तिमाही में 72 प्रतिशत कम हुई है और मुंबई में नई परियोजनाओं की पेशकश मेंं सालाना आधार पर 49 प्रतिशत की कमी आई है। आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज को उम्मीद है कि ठाणे और नवी मुंबई सहित मुंबई मेट्रोपोलिटन क्षेत्र में सालाना कार्यालय संपत्ति की खपत ग्रेड ए श्रेणी में 30-40 लाख वर्गफुट रहना जारी है। वहींं शहर में 140 लाख वर्गफुट की परियोजनाएं निर्माणाधीन हैं। आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज के मुताबिक कार्यालय योग्य संपत्ति 2018 और 2019 के बीच करीब 90-100 लाख वर्गफुट पूरी हो जाएंगी, जिसमेंं से ज्यादातर नवी मुंबई और मुंबई के पश्चिमी उपनगरीय क्षेत्र मेंं है। 
 
फ्रंड प्रबंधक एएसके प्रॉपर्टी इंवेस्टमेंट एजवाइजर्स के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमित भगत ने कहा कि वाणिज्यिक संपत्तियों की मांग जोरदार बनी रहेगी लेकिन आवासीय संपत्तियों को वाणिज्यिक में बदलने की प्रक्रिया स्थान, पहुंच और बुनियादी ढांचे पर निर्भर होगी।  रेडियस डेवलपर्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी आशीष शाह ने कहा कि एफएसआई में बढ़ोतरी स्वागत योग्य है, लेकिन बिक्री को रफ्तार पकडऩे में समय लगेगा। वहीं हीरानंदानी कंस्ट्रक्शंस में प्रबंध निदेशक निरंजन हीरानंदानी जैसे डेवलपरों की अलग राय है। हीरानंदानी ने कहा, 'यह कुछ इलाकों में हो सकता है, लेकिन पूरी मुंबई के मामले में ऐसा नहीं है। यहां तक कि आज भी नरीमन प्वाइंट में आवासीय संपत्तियों की कीमत वाणिज्यिक संपत्तियों से ज्यादा है।' 
कीवर्ड real estate, property, mumbai,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक