इंटरग्लोब एविएशन की गिरावट पर करें खरीदारी

पुनीत वाधवा | नई दिल्ली Apr 30, 2018 10:05 PM IST

इंडिगो की पैतृक कंपनी इंटरग्लोब एविएशन के शेयर एनएसई पर आज 0.6 फीसदी गिरकर 1,400 रुपये के स्तर पर बंद हुए। कंपनी के शेयरों में गिरावट उसके अध्यक्ष आदित्य घोष के शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद अपना पद छोडऩे की खबरों के बाद आई है।  जहां इंटरग्लोब एविएशन के शेयरों में गिरावट आई, वहीं निफ्टी50 सूचकांक 0.4 फीसदी बढ़कर 10,739 के स्तर पर बंद हुआ। विश्लेषकों का कहना है कि इन खबरों की त्वरित प्रतिक्रिया में यह गिरावट आई है। अचंभे की बात यह है कि शुक्रवार को घोष के अपने त्यागपत्र की घोषणा से पहले यह शेयर 6 फीसदी से अधिक गिरा था। शायद बाजार को इस खबर की पहले ही भनक लग गई थी। 
 
आईडीबीआई कैपिटल में शोध प्रमुख एके प्रभाकर ने कहा, 'प्रबंधन में बदलाव का शेयर पर सीमित असर पड़ेगा। उत्तराधिकारी के नाम की घोषणा से कंपनी के शेयर में स्थिरता आएगी।'  पिछले एक साल के दौरान इंटरग्लोब एविएशन ने अन्य विमानन कंपनियों के मुकाबले बेहतर प्रदर्शन किया है। कंपनी का शेयर करीब 27 फीसदी उछला है, जबकि जेट एयरवेज में 20 फीसदी तेजी आई है और निफ्टी50 15 फीसदी चढ़ा है। चालू कैलेंडर वर्ष में भी इसने अन्य विमानन कंपनियों से अच्छा प्रदर्शन किया है। इसके शेयर में 17 फीसदी तेजी आई है, जबकि जेट एयरवेज का शेयर 25 फीसदी गिरा है। इस अवधि में निफ्टी50 करीब 1.5 फीसदी चढ़ा है। 
 
विश्लेषकों का कहना है कि एक प्रतिस्पर्धी उद्योग में परिचालन के बावजूद इंडिगो को अपनी बाजार हिस्सेदारी में लगातार बढ़ोतरी का फायदा मिल रहा है।  मोतीलाल ओसवाल रिसर्च की एक हाल की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 44 महीनों से विमानन उद्योग के लिए यात्रियों की संख्या में वृद्धि दो अंकों में रही है। इसने कहा है कि भारत में घरेलू हवाई यात्रियों की संख्या मार्च, 2018 में सालाना आधार पर 28.2 फीसदी बढ़कर 1.15 करोड़ पर पहुंच गई है। घरेलू यात्रियों की संख्या में जनवरी-मार्च, 2018 तिमाही के दौरान सालाना आधार पर 24 फीसदी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। 
 
इंडिगो के यात्रियों की संख्या में सालाना आधार पर मार्च, 2018 में 26.7 फीसदी और जनवरी-मार्च, 2018 तिमाही के दौरान 24 फीसदी बढ़ी है। मोतीलाल ओसवाल की रिपोर्ट में कहा गया है कि इस विमानन कंपनी की बाजार हिस्सेदारी मार्च, 2018 में 39.6 फीसदी और वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में 39.8 फीसदी रही।  इंटरग्लोब एविएशन के शेयर में पिछले एक साल के दौरान भारी तेजी और कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी (30 अप्रैल, 2017 से अब तक 42 फीसदी) के कारण अब विश्लेषक इस क्षेत्र को लेकर सतर्कता का रुख अपना रहे हैं। 
कीवर्ड share, aviation, विमानन indigo,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक