संयुक्त उद्यम खत्म करेंगी डीएसपी, ब्लैकरॉक

ऐश्ली कुटिन्हो | मुंबई Apr 30, 2018 10:05 PM IST

डीएसपी ग्रुप और ब्लैकरॉक अपने संयुक्त उद्यम डीएसपी ब्लैकरॉक इन्वेस्टमेंट मैनेजर्स को खत्म करने के लिए बातचीत कर रही हैं। इस मामले से अवगत दो लोगों ने यह जानकारी दी। इस संयुक्त उद्यम में 60 फीसदी हिस्सेदारी डीएसपी ग्रुप की है जबकि शेष 40 फीसदी हिस्सेदारी ब्लैकरॉक की है।  डीएसपी ब्लैकरॉक देश के शीर्ष 10 फंड हाउस में शामिल है और मार्च 2018 तक उसकी प्रबंधनाधीन परिसंपत्तियों का आकार करीब 860 अरब रुपये थी। हेमेंद्र कोठारी की अगुआई वाला डीएसपी ग्रुप भारत की सबसे पुरानी वित्तीय सेवा कंपनियों में से एक है। जबकि ब्लैकरॉक विश्व की सबसे बड़ी ऐसेट मैनेजर है जिसकी प्रबंधनाधीन परिसंपत्तियों का आकार दिसंबर 2017 तक 6 लाख करोड़ डॉलर से अधिक था।
 
सूत्रों के अनुसार, ब्लैकरॉक अकेले कारोबार करना चाहती है और समझा जाता है कि वह संयुक्त उद्यम में डीएसपी की 60 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने जा रही है। एक सूत्र ने कहा, 'संयुक्त उद्यम की फिलहाल समीक्षा की जा रही है लेकिन मूल्यांकन को लेकर फिलहाल कोई समझौता नहीं हुआ है।' इससे पहले भी चर्चा थी कि डीएसपी कंपनी में ब्लैकरॉक की हिस्सेदारी खरीदना चाहती है। एतिहासिक तौर पर, भारतीय ऐसेट मैनेजमेंट क्षेत्र में 5 से 7 फीसदी प्रबंधनाधीन परिसंपत्तियों में सौदे होते हैं। हालांकि पिछले दो साल के दौरान म्युचुअल फंड परिसंपत्तियों में उल्लेखनीय वृद्धि के मद्देनजर किसी उचित मूल्यांकन तक पहुंचना आसान नहीं है। एक अन्य व्यक्ति ने कहा, 'ब्लैकरॉक वैश्विक स्तर पर एक आक्रामक खिलाड़ी है और वह अधिक समय तक अल्पांश हिस्सेदार नहीं रह सकती है खासकर भारत में ऐसेट मैनेजरों की दमदार वृद्धि रफ्तार को देखते हुए।'
 
पिछले साल म्युचुअल फंडों ने सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान के जरिये हर महीने औसतन 40 से 60 अरब रुपये की रिकॉर्ड परिसंपत्तियां तैयार की हैं। पिछले तीन साल के दौरान उद्योग की परिसंपत्तियां लगभग दोगुनी हो चुकी हैं। म्युचुअल फंड उद्योग की कुल प्रबंधनाधीन परिसंपत्तियां 31 मार्च 2018 तक 21 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच चुकी थीं। साल 2017-18 में म्युचुअल फंडों ने भारतीय शेयर बाजार में 1.4 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया जो विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) के कुल 222 अरब रुपये के निवेश के मुकाबले छह गुना से भी अधिक है।
 
फिलहाल यह स्पष्टï नहीं है कि संयुक्त उद्यम खत्म होने के बाद डीएसपी और ब्लैकरॉक के बीच गैर-प्रतिस्पर्धा अनुबंध बरकरार रहेगा अथवा नहीं। एक ईमेल के जवाब में ब्लैकरॉक ने डीएसपी की हिस्सेदारी खरीदने संबंधी किसी योजना से इनकार किया। डीएसपी ब्लैकरॉक के गैर-कार्यकारी चेयरमैन कोठारी ने कहा, 'हम बाजार के कयासों पर टिप्पणी नहीं करते हैं।'
कीवर्ड DSP, blackrock,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक